Home » बिज़नेस » Reliance Infrastructure to complete sale of Delhi-Agra Toll Roadway by August
 

कर्ज चुकाने के लिए अनिल अंबानी बेचेंगे दिल्ली-आगरा टोल रोडवे की हिस्सेदारी

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 June 2019, 14:29 IST

रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर ने दिल्ली-आगरा टोल रोडवे की अपनी पूरी हिस्सेदारी सिंगापुर की क्यूब हाइवे जो बेच दी है. यह सौदा अगस्त 2019 के अंत तक पूरी हो जायेगा. रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर ने क्यूब हाइवे के साथ बाइंडिंग शेयर खरीद समझौते पर हस्ताक्षर किए, जिसकी कीमत 3,600 करोड़ रूपये है. कंपनी ने एक नियामकीय फाइलिंग में कहा, "रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर को इससे 3,600 करोड़ मिलेंगे, जिसमें 1,700 करोड़ तक की इक्विटी होगी."

फर्म ने कहा कि इस लेन-देन के साथ उसके कर्ज में 25 प्रतिशत से की कमी आएगी जो 5,000 करोड़ से कम हो जाएगा. क्यूब हाईवे और इन्फ्रास्ट्रक्चर III पीटीई लिमिटेड एक सिंगापुर-आधारित कंपनी है, जो अबू धाबी निवेश प्राधिकरण की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी है.

इससे पहले अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस पावर (आरपीओआर) ने इंडोनेशिया में अपनी कोयला खदानों को बेचने की प्रक्रिया शुरू की थी. कंपनी ने कहा था कि सौदा पूरा होने पर आर्थिक रूप से परेशान समूह से 150-200 मिलियन डॉलर प्राप्त करने की उम्मीद है.

रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर ने 31 मार्च को समाप्त तिमाही के लिए 3,301 करोड़ का शुद्ध घाटा दर्ज किया था. कंपनी ने पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही में 133.66 करोड़ का लाभ दर्ज किया था. वार्षिक आधार पर, इसने 2018-19 के लिए 2,426.82 करोड़ का नुकसान उठाया था. इसने 2017-18 में 1,255.50 करोड़ का लाभ दर्ज किया था.रिलायंस इंफ्रास्ट्रक्चर के शेयर बीएसई पर 60.60 के स्तर पर 0.57 फीसदी की गिरावट के साथ कारोबार कर रहे थे.

मोदी सरकार क्यों लगाना चाहती है अमेज़न-फ्लिपकार्ट की ऑनलाइन छूट पर रोक ?

First published: 27 June 2019, 14:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी