Home » बिज़नेस » Reliance Jio average 4G downloading speed in India is fastest, claims TRAI
 

देश में Reliance Jio 4G की डाउनलोड स्पीड है सबसे ज्यादा

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 April 2017, 14:56 IST

एक ओर Airtel द्वारा विज्ञापनों में दावा किया जा रहा है कि उसकी डाटा स्पीड सबसे तेज है, तो दूसरी ओर टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया (TRAI) द्वारा जारी आंकड़ों की मानें तो मार्च माह में सबसे तेज 4G डाउनलोडिंग स्पीड के मामले में Reliance Jio सबसे आगे रहा है.

जनवरी में चौथे स्थान पर रहने वाले Jio ने फरवरी में देश का सबसे तेज 4G नेेटवर्क होने का तमगा हासिल किया था. यहां दिलचस्प बात यह है कि TRAI की यह रिपोर्ट Jio Summer Surprise Offer की घोषणा के कुछ दिन बाद जारी की गई है.

इस ऑफर के अंतर्गत Jio जून 2017 तक मुफ्त में अपनी सेवाएं दे रही है. TRAI के MySpeed ऐप द्वारा जुटाए गए आंकड़ों के मुताबिक टेलीकॉम उद्योग में 4G मोबाइल ब्रॉडबैंड के मामले में Reliance Jio की औसत डाउनलोडिंग स्पीड 16.487Mbps थी.

इसके बाद दूसरे पायदान पर Idea (12.092Mbps), तीसरे पर Airtel (10.439) और चौथे पर Vodafone (7.933Mbps) की 4G डाउनलोडिंग स्पीड है. हालांकि पांचवें स्थान पर Reliance Communications (2.958Mbps) का स्थान आता है.

 

यहां यह बताना जरूरी है कि देश के टॉप चार सबसे तेज नेटवर्क्स की औसत डाउनलोड स्पीड पिछले माह की तुलना में ज्यादा भी रही. हालांकि Airtel और Vodafone की 4G डाउनलोड स्पीड जनवरी की तुलना में कम हुई है.

एक ओर डाउनलोडिंग के मामले में Reliance Jio सबसे तेज है, लेकिन इसके उलट औसत अपलोडिंग स्पीड के मामले में यह अपने प्रतिस्पर्धियों से पीछे है. इस मामले में 6.536Mbps की औसत 4G अपलोडिंग स्पीड के साथ Idea नंबर एक पर है.

जबकि Vodafone (5.429Mbps) दूसरे, Airtel (4.455) तीसरे, Reliance Jio (3.58Mbps) चौथे और Reliance Communications (1.490Mbps) के साथ पांचवें स्थान पर आता है.

ध्यान देने वाली बात यह है कि यह आंकड़ें उस वक्त सामने आए हैं जब Airtel द्वारा स्पीडटेस्ट ऐप Ookla के हवाले से खुद को देश का सबसे तेज टेलीकॉम ऑपरेटर बताने का दावा किया जा रहा है. Reliance Jio ने इसके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी.

Reliance Jio की शिकायत के बाद एडवरटाइजिंग स्टैंडर्ड्स काउंसिल ऑफ इंडिया (ASCI) ने एयरटेल के दावों को भ्रामक पाया और कंपनी को आदेश दिया कि वे या तो 11 अप्रैल तक अपने टेलीविजन विज्ञापनों और वेबसाइट पर चलने वाले विज्ञापनों को हटा ले या फिर इनमें सुधार करे.

First published: 4 April 2017, 14:56 IST
 
अगली कहानी