Home » बिज़नेस » Reliance Jio says not importing 4G feature phones,
 

रिलायंस का जवाब - भारत में बनाये जा रहे हैं सभी JioPhone, नहीं किये जाते इम्पोर्ट

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 July 2018, 15:28 IST

रिलायंस जियो ने उन आरोपों को खारिज कर दिया है जिसमें कहा गया था कि वह अपने 4जी जियोफोन के डिवाइस इम्पोर्ट करने में इम्पोर्ट ड्यूटी से बचने के लिए वैकल्पिक व्यापार मार्गों का इस्तेमाल कर रहा है. रिलायंस ने कहा है कि वह अपने सभी 4जी फीचरफ़ोन भारत में ही बना रही है.

जियो मोबाइल मोबाइल हैंडसेट कंपनियों द्वारा लगाए गए आरोपों का जवाब देते हुए रिलायंस ने ये बात कही है. इकनॉमिक टाइम्स को दिए एक इंटरव्यू में मोबाइल एसोसिएशन (टीएमए) ने कहा था कि मुकेश अंबानी के नेतृत्व वाले रिलायंस इंडस्ट्रीज स्थानीय स्तर पर जियोफोन नहीं बना रहे है, जो कि मेक इन इंडिया को बड़ा झटका है.

 

इकनोमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार 'द मोबाइल एसोसिएशन' (टीएमए) के मोबाइल एडवाइजरी कमेटी के अध्यक्ष भूपेश रसीन, जो कार्बन, लावा और जिवी मोबाइल जैसे हैंडसेट निर्माताओं समेत लगभग 200 फर्मों का प्रतिनिधित्व करते हैं, ने अख़बार से इंटरव्यू में ये बातें कही थी.

उन्होंने कहा ''विभिन्न बाजार स्रोतों से एकत्रित हमारी समझ के अनुसार, JioPhone2 किसी भी पुराने फोन के बदले में उपलब्ध होने जा रहा है. उदाहरण के लिए माइक्रोमैक्स और लावा रेंज जैसे विभिन्न ब्रांडों द्वारा प्रस्तावित 4जी फीचर फोन के लिए सामान्य खुदरा कीमत 2,100 रुपये से 3,333 तक है''.

ये भी पढ़ें : 'मेक इन इंडिया नहीं है अंबानी का JioPhone, चीन से इम्पोर्ट की जाती है डिवाइस'

TMA ने कहा ''यदि रिलायंस जियो को 501 रुपये प्रति यूनिट के बहुत कम कीमत फोन बेचता है तो तो इंटेक्स, इटेल, जिवी मोबाइल, कार्बन, लावा, माइक्रोमैक्स और लगभग 100 अन्य ब्रांड जैसे वास्तविक मोबाइल विक्रेताओं के कारोबार को झटका लगेगा''.

First published: 16 July 2018, 15:21 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी