Home » बिज़नेस » Reliance to acquire Radisys to accelerate 5G, IoT push
 

मुकेश अंबानी जियो के 5जी प्रोजेक्ट के लिए खरीदने जा रहे हैं ये नई कंपनी

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 June 2018, 18:00 IST
(पीटीआई )

टेलीकॉम सेक्टर में अपनी पकड़ मजबूत करने के लिए रिलायंस इंडस्ट्रीज एक नई कंपनी रैडिसिस को खरीदने जा रही है. ये सौदा 1.72 डॉलर प्रति शेयर के भाव पर कैश में होगा. रैडिसिस दुनियाभर में टेलीकॉम सॉल्यूशंस देती है और सौदे के लिए रेगुलेटरी मंजूरी और रैडीसिस के शेयरधारकों की मंजूरी मिलना अभी बाकी है. इस  सौदे को 2018 की चौथी तिमाही तक सौदे को मंजूरी मिल जाएगी.

दोनों कंपनियों द्वारा संयुक्त बयान में कहा गया है कि नास्डैक-सूचीबद्ध रैडिसिस में लगभग 600 कर्मचारी हैं साथ ही बेंगलुरू में एक इंजीनियरिंग टीम है. बयान में कहा गया है ओपन टेलीकॉम सॉल्यूशंस की वैश्विक लीडर रैडिसिस कॉर्पोरेशन और रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड एक निश्चित समझौते में प्रवेश कर रहे हैं. 

जिसके तहत रिलायंस रैडिसिस को नकदी में 1.72 डॉलर प्रति शेयर के लिए अधिग्रहित करेगा. यह सौदा वैधानिक और विनियामक अनुमोदन और रैडिसिस के शेयरधारकों की मंजूरी के अधीन है.

आरआईएल अपने आंतरिक संसाधनों के माध्यम से लेनदेन को फंड करने की योजना बना रहा है. इस अधिग्रहण का लक्ष्य 5जी, आईओटी और ओपन सोर्स आर्किटेक्चर के उद्देश्य से किया जा रहा है.

टेलीकॉम सेक्टर में क्रांति लाने वाली मुकेश अंबानी की रिलायंस जियो इन्फोकॉम ने 24 महीनों से भी कम समय के भीतर 20 करोड़ ग्राहक बना लिए हैं. जो अपने आप में एक कीर्तिमान है. 

बता दें कि वर्तमान में आईडिया के पास 217 मिलियन ग्राहक हैं ऐसे में जियो अब उससे चंद कदम ही दूर है. वहीं आईडिया के बाद जियो का अगला लक्ष्य 222 मिलियन ग्राहकों वाले वोड़ाफोन को पार करना होगा. जबकि भारती एयरलेट सबसे अधिक 309 मिलियन ग्राहकों के साथ अब भी शीर्ष पर मौजूद है.

ये भी पढ़ें : GST ने कैसे एक साल में ख़त्म कर दी 'मैनचेस्टर ऑफ इंडिया' की रौनक ?

First published: 30 June 2018, 17:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी