Home » बिज़नेस » Relief news for Yes Bank account holders, these 4 banks will put 11,000 crores
 

Yes Bank के खाताधारकों के लिए राहतभरी खबर, 50 हजार से ज्यादा की निकासी पर लगा बैन हटेगा

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 March 2020, 9:01 IST

कर्ज में डूबे यस बैंक के लिए वित्त मंत्रालय ने रिकंस्ट्रक्शन स्कीम तैयार कर दी है. एक अधिसूचना में कहा गया है कि 3 दिनों के भीतर बैंक से निकासी पर लगाई गई रोक को हटा दिया जायेगा. आरबीआई ने बैंक खातों से 50,000 रुपये तक की निकासी पर प्रतिबंध लगाया था. एक रिपोर्ट के अनुसार भारतीय स्टेट बैंक ने कैबिनेट को एक प्रस्ताव प्रस्तुत किया है, जिसके तहत वह जीवन बीमा निगम (LIC) और 4 निजी क्षेत्र के बैंकों के साथ यस बैंक में 11,000 करोड़ रुपये डालेगा.

इस प्रस्ताव के अनुसार SBI यस बैंक में 7250 करोड़, HDFC बैंक और ICICI बैंक प्रत्येक 1000 करोड़, एक्सिस बैंक 600 करोड़ और कोटक महिंद्रा बैंक 500 करोड़ यस बैंक में डाल सकता है. रिपोर्ट के अनुसार नए शेयर होल्डिंग स्ट्रक्चर के अनुसार इसमें एसबीआई 45.74 प्रतिशत, एचडीएफसी और आईसीआईसीआई बैंक प्रत्येक 6.31प्रतिशत और एक्सिस बैंक की लगभग 3.5 प्रतिशत हिस्सेदारी हो सकती है. एचडीएफसी, आईसीआईसीआई बैंक और एक्सिस बैंक के बोर्ड ने बैंक में निवेश करने की मंजूरी दे दी है.

 

स्टॉक एक्सचेंज नोटिफिकेशन के अनुसार एचडीएफसी और आईसीआईसीआई बैंक दोनों ने कहा कि वे 10 प्रति शेयर के हिसाब से यस बैंक में 100 करोड़ इक्विटी शेयर हासिल करेंगे, जिससे निजी क्षेत्र के ऋणदाता में 5 प्रतिशत से अधिक शेयरधारिता बढ़ जाएगी.

प्रस्तावित योजना के अनुसार प्रशांत कुमार 3 साल के लिए येस बैंक के नए प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी होंगे. आरबीआई द्वारा अध्यक्ष और 2 निदेशकों की नियुक्ति की जाएगी. महेश कृष्णमूर्ति और अतुल भेडा प्रस्ताव के अनुसार बैंक के स्वतंत्र निदेशक होंगे.

अमेरिका के ट्रैवल बैन के बाद तेल की कीमतों में आयी रिकॉर्ड गिरावट

First published: 14 March 2020, 9:01 IST
 
अगली कहानी