Home » बिज़नेस » Retail stores recorded growth compared to online sellers
 

ऑनलाइन बाजार को टक्कर देते रिटेल स्टोर्स लौटे मुनाफे में

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 February 2016, 14:25 IST

ऑनलाइन बाजार को टक्कर देने के लिए रिटेल चेन स्टोर्स वापसी कर रहे हैं. यहां तक की कुछ रिटेल चेन स्टोर्स ने बीते वर्ष अक्तूबर-दिसंबर तिमाही में बीते चार वर्ष की तुलना में सर्वाधिक व्यवसाय किया. जबकि इस दौरान ऑनलाइन स्टोर्स भी अपने डिस्काउंट को कम कर घाटा पूरा करने में जुटे थे.

एक अखबार को दिए बयान में फ्यूचर ग्रुप के सीईओ किशोर बियानी ने कहा, "ऑनलाइन की तुलना में प्रतिस्पर्धा बेशक कम हुई है. यह उनके ढलान की शुरुआत भर है क्योंकि डिस्काउंट का ई-कॉमर्स मॉडल हमेशा नहीं रहने वाला."

शॉपर्स स्टॉप और फ्यूचर लाइफस्टाइल ने वर्ष 2014 की तुलना में 2015 में 18 फीसदी तक की बढ़ोतरी दर्ज की जोकि चार वर्षों में सर्वाधिक है. जबकि लाइफस्टाइल इंटरनेशनल, एरो और फ्लाइंग मशीन नेे  इस दौरान 12-15 फीसदी तक की उछाल देखी, जो बीते दो वर्षों का सर्वाधिक आंकड़ा है.

2014 की तुलना में यह पूरी तरह उलटा परिणाम है क्योंकि तब इन रिटेल स्टोर्स ने ग्राहकों की कमी का ठीकरा ई-कॉमर्स पर फोड़ते हुए उन्हें ग्राहक छीनने वाला करार दिया था. परिणामस्वरूप 2015 के त्योहारी मौसम में इन रिटेल स्टोर्स ने बेहतर प्रचार कर खुद को तैयार कर रखा था. 

औसत बिल वैल्यू में 9 फीसदी की बढ़ोतरी देखने वाले शॉपर्स स्टॉप के प्रबंध निदेशक गोविंद श्रीखंडे कहते हैं, "इस बार हमने सोच रखा था कि ऑनलाइन प्लेयर्स इस बार भारी विज्ञापन और छूट का सिलसिला जारी रखेंगे."

ऑनलाइन छूट में कटौती

गौरतलब है कि पिछले दिनों खबरें थी कि अमेजॉन, फ्लिपकार्ट और स्नैपडील को 2014-15 वित्तीय वर्ष में संयुक्त रूप से 5,052 करोड़ रुपये का घाटा उठाना पड़ा था. 

First published: 10 February 2016, 14:25 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी