Home » बिज़नेस » RIL becomes first Indian corporate to cross quarterly net profit of ₹10,000 cr
 

एक तिमाही में इतना बड़ा मुनाफा कमाने वाली रिलायंस देश की पहली कंपनी बनी

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 January 2019, 12:15 IST

मुकेश अंबानी के स्वामित्व वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज का समेकित शुद्ध लाभ अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में 8.8 प्रतिशत बढ़कर 10,251 करोड़ हो गया. इसके साथ ही रिलायंस पहली भारतीय कंपनी बन गई जिसका एक तिमाही में शुद्ध लाभ 10,000-करोड़ तिमाही को पार कर गया.

एक साल पहले अक्टूबर-दिसंबर तिमाही में रिकॉर्ड शुद्ध लाभ एक साल पहले से 1,71,336 करोड़ के राजस्व से 55.9 प्रतिशत बढ़ा था. वित्त वर्ष 18 की तीसरी तिमाही में 1,09,905 करोड़ के राजस्व पर समेकित शुद्ध लाभ 20 9,420 करोड़ था. चेयरमैन और प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी ने एक बयान में कहा, "तेल की कीमत के माहौल में तिमाही के दौरान अस्थिरता बढ़ी, आरआईएल ने मजबूत तिमाही नतीजे दिए."

Jio का शुद्ध लाभ 65%

ग्राहकों की संख्या में वृद्धि से उत्साहित रिलायंस जियो इंफोकॉम ने तीसरी तिमाही में शुद्ध लाभ में 65 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की, जो एक साल में 504 करोड़ से 831 करोड़ हो गई. 31 दिसंबर, 2018 तक RJio का यूजर बेस 280.1 मिलियन था.

कंपनी का औसत राजस्व प्रति उपयोगकर्ता (ARPU) प्रति माह 130 प्रति ग्राहक से थोड़ा कम था. इसका कुल वायरलेस डेटा ट्रैफ़िक 864 करोड़ जीबी था, और कुल वॉइस ट्रैफ़िक 63,406 करोड़ मिनट था. गौरतलब है कि रिलायंस इंडस्ट्रीज गुजरात के जामनगर में दुनिया की सबसे बड़ी रिफाइनिंग और पेट्रोकेमिकल्स कॉम्प्लेक्स चलाती है.

First published: 18 January 2019, 12:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी