Home » बिज़नेस » RIL shares fall over 10% in 4 sessions, erase over $10 billion in market value
 

कैसी होगी नई सरकार बाजार ने दिए संकेत, रिलायंस के शेयरों में बड़ी गिरावट

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 May 2019, 11:15 IST

चुनावों परिणामों से पहले बाजार में बड़ी हलचल देखी गई है. इस दौरान एफएफआई ने बड़ी बिकवाली की है. जानकारों का मानना है कि बाजार को लग रहा है कि, हो सकता है चुनावों के बाद उन्हें गठबंधन की सरकार मिले. पहले लग रहा था कि बीजेपी को पूर्ण बहुमत मिल जायेगा लेकिन अब संभावना जताई जा रही है कि शायद बीजेपी को अकेले बहुत न मिले.

यह सातवां दिन है जब बाजारों में गिरावट गिरावट देखी गई है. मुकेश अंबानी की अगुवाई वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के शेयर गुरुवार को दो महीने के निचले स्तर पर कारोबार कर रहे थे. स्थानीय इक्विटी बाजारों में गिरावट देखी गई. सुबह 9.30 बजे आरआईएल का एक शेयर 1,272.30 पर था, जिसमे 2.09% की गिरावट आयी. जबकि भारत का बेंचमार्क सेंसेक्स इंडेक्स 0.48% गिरकर 37,608.14 अंक था. 3 मई के बाद से आरआईएल चार सत्रों में रिलायंस के शेयर लगभग 10 प्रतिशत गिर चुके हैं.

 

आरआईएल का रिफाइनिंग मार्जिन मार्च क्वॉर्टर में 17 तिमाही के निचले स्तर 8.2 डॉलर प्रति बैरल पर था.Jio के लॉन्च के बाद से RIL का कर्ज कैपेक्स की वजह से लगातार बढ़ रहा है. पिकंपनी का कर्ज 31 मार्च तक 2.18 ट्रिलियन से बढ़कर 2.87 ट्रिलियन हो गया. मार्च तिमाही में रिलायंस जियो का शुद्ध लाभ मोटे तौर पर 840 करोड़ तिमाही-दर-तिमाही रहा और प्रति उपयोगकर्ता औसत राजस्व 126 रुपये प्रति माह प्रति ग्राहक घट गया.

जबकि ब्रिटानिया, आईओसी, विप्रो, और कोल इंडिया के स्टॉक्स ग्रीन मार्क के साथ खुले. एचडीएफसी बैंक, यस बैंक, अडाणी पोर्ट्स, ग्रासिम, बीपीसीएल, यूपीएल, गेल, सिप्ला के शेयरों में भी गिरावट देखी गई.

First published: 9 May 2019, 11:11 IST
 
अगली कहानी