Home » बिज़नेस » Rupee hitting record lows may prompt RBI to hike interest rates, Rupee drops 47 paise to hit new low of 73.77 against US dollar
 

रुपये में ऐतिहासिक गिरावट, सेंसेक्स 800 अंक टूटा, RBI उठाएगी ये कठोर कदम!

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 October 2018, 14:10 IST

रुपया गुरुवार को 43 पैसे टूटकर अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 73.81 न्यूनतम स्तर पर पहुंच गया. रुपये में गिरावट की वजह वैश्विक तेल की कीमतों में जारी वृद्धि बताया जा है. रुपये में कमजोरी से चालू खाते का घाटा बढ़ता जा रहा है जिससे कैपिटल का आउटफ्लो ज्यादा होने से चिंताएं और बढ़ गई हैं. चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में चालू खाते का घाटा जीडीपी के 2.4 प्रतिशत तक पहुंच गया है.

बीएसई बेंचमार्क सेंसेक्स गुरुवार को दोपहर के सत्र में 800 अंक से अधिक गिर गया क्योंकि उबलते कच्चे तेल की कीमतों में कमजोर वैश्विक संकेतों के मुकाबले रुपया कम हो गया. एनएसई निफ्टी इंडेक्स भी 213.15 अंक, या 1.96 प्रतिशत गिरकर 10,645.10 हो गया. अस्थिरता सूचकांक (Volatility index India) VIX भी 6 प्रतिशत बढ़ गया.

RBI बढ़ा सकती है ब्याज दर

भारतीय रुपया में रिकॉर्ड कम हो गया क्योंकि वैश्विक तेल की कीमतें बढ़ीं और शेयर और बॉन्ड गुरुवार को कमजोर हो गए, ऐसा अनुमान लगाया जा रहा है कि रिज़र्व बैंक शुक्रवार को ब्याज दरों में बढ़ोतरी कर सकता है और पहले की उम्मीद से ज्यादा आक्रामक रूप से बढ़ सकता है.

पिछले हफ्ते रॉयटर्स द्वारा मतदान किए गए अधिकांश विश्लेषकों ने मुख्य रेपो दर में लगातार तीसरे आधार पर 25 आधार अंकों की बढ़ोतरी की उम्मीद की, जो वर्तमान में 6.50 प्रतिशत पर निर्धारित है, हालांकि हाल के दिनों में अनुमान लगाया गया है कि भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) 50 बेसिस पॉइंट्स की वृद्धि कर सकती है जिससे ब्याज में वृद्धि हो जाएगी.

आयातकों द्वारा लगातार डॉलर की मांग, मुख्य रूप से तेल रिफाइनर अधिकांशतः डॉलर में भुगतान लेते हैं. दूसरी ओर कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों के कारण भी रुपये में दबाव नजर आ रहा है. इस बीच, सरकार की स्वामित्व वाली तेल विपणन कंपनियों को अपनी कामकाजी पूंजी जरूरतों को पूरा करने के लिए विदेशी बाजार से 10 अरब अमेरिकी डॉलर जुटाने की अनुमति दी गई है.

इंटरबैंक विदेशी मुद्रा में, रुपया अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 73.34 से 47 पैसे टूटकर 73.81 के निचले स्तर पर पहुंच गया. अंतरराष्ट्रीय बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड ने भी चार साल के उच्चतम स्तर के करीब 86 यूएस डॉलर प्रति बैरल हो गया.

 

First published: 4 October 2018, 14:10 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी