Home » बिज़नेस » Rupee rises 35 paise to 72.65 against US dollar in early trade, know the regions
 

रुपया हुआ मजबूत अब डॉलर को देगा मात, ऐसे मिली संजीवनी

दीपक कुमार सिंह | Updated on: 9 November 2018, 12:13 IST

भारतीय करेंसी रुपया ने अच्छा प्रदर्शन करते हुए आज फिर मजबूती दर्ज की है. शुरुआती कारोबार में अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 35 पैसे की तेजी के साथ रुपया 72.65 पर पहुंच गया. अमेरिका के मध्य-चुनाव चुनाव परिणामों में ट्रंप को मिले झटके के बाद और कच्चे तेल की कीमतों में कमी के चलते रुपये में मजबूती देखी गई है. ईरान से तेल खरीदने पर मिली छूट ने भी रुपये को रफ्तार दी है.

इंटरबैंक विदेशी मुद्रा बाजार में, रुपया शुरुआती कारोबार में 72.65 पर ट्रेड कर रहा है. पहले यूएस डॉलर के मुकाबले 73 पर बंद हुआ था के पिछले बंद के मुकाबले 35 पैसे की बढ़ोतरी दर्शाता है.

अगर रुपये में सुधार नहीं होता तो..

अगर रुपये में तत्काल सुधार नहीं होता तो देश की विकास धीमी पड़ जाती और अर्थव्यवस्था पर संकट आना तय था क्योंकि हाल ही में रुपये में ऐतिहासिक गिरावट देखी गई थी और यह डॉलर के सामने 74 पर पहुंच गया था. रूपये में मजबूती नहीं आती तो देश को महंगाई की मार झेलनी होती, पेट्रोल-डीजल की कीमतें लगातार बढ़ती जाती और जनता त्रस्त रहती.

इस वजह से रुपये को मिली संजीवनी

विदेशी मुद्रा व्यापारियों (फॉरेक्स ट्रेडर) ने कहा कि निर्यातकों और बैंकों द्वारा डॉलर की बिक्री एवं विदेशों में कुछ मुद्राओं के मुकाबले अमेरिकी करेंसी में कमजोरी के कारण भी समर्थन मिला. उन्होंने ये भी कहा कि अमेरिकी मध्य-चुनाव चुनाव के नतीजे बताते हैं कि डेमोक्रेट ने सत्तारूढ़ रिपब्लिकन पार्टी यानि ट्रम्प को "हाउस ऑफ़ रेप्रेजेंटेटिव" में कमजोर किया है इससे रुपये को समर्थन मिला है.

डेमोक्रेट के पास अब 435 सदस्यीय सदन में बहुमत है, जबकि ट्रम्प की पार्टी ने 100 सदस्यीय सीनेट में बहुमत बरकरार रखा है, इससे ट्रम्प की मनमानी पर भी लगाम लगेगा.

First published: 9 November 2018, 12:13 IST
 
अगली कहानी