Home » बिज़नेस » Rupees devaluation effect on festive items, lighting, electronic and dry fruits, diwali, Navratra goods price increased
 

कमजोर रुपया इस दिवाली, दशहरा आपके जेब पर डालेगा डाका, जानें कितनी महंगी मिलेगी चीजें

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 September 2018, 16:14 IST

हमारे देश में त्योहारों का सीजन आने ही वाला है जबकि डॉलर के मुकाबले रुपये में लगातार गिरावट जारी है. रूपये के अवमूल्यन से नवरात्रा, दशहरा, दिवाली जैसे त्योहारों में जरूरत की चीजें महंगी हो गई है. आम ग्राहक तक पहुंचने से पहले ही त्योहारी सामान के मूल्य में वृद्धि का सीधा असर आपकी जेब पर पड़ने वाला है.

थोक बाजारों में जुलाई से अब तक ज्यादातर त्योहारी सामान का इम्पोर्ट हो चुका है और थोक विक्रेता महंगी लागत जोड़कर खुदरा बाजारों में सामान उतारने लगे हैं. थोक व्यापारियों का कहना है कि इस बार ग्राहकों को ड्राई फ्रूट्स, गिफ्ट-पैक, इलेक्ट्रिकल लाइटिंग करीब 20-30% तक अधिक कीमतों पर मिलेगा. क्योंकि अब रुपये में सुधार भी होता है तो त्योहारों तक कीमतों में कमी नहीं आएगी. रुपये में लगातार गिरावट की अटकलों से भी इम्पोर्टर घबराए हुए हैं और मौजूदा कीमतों पर ही सामान आयात कर रहे हैं.

इलेक्ट्रिकल लाइटिंग, चाइनीज लड़ियों और डेकोरेटिव आइटम्स के इम्पोर्टर ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में एलईडी लाइट्स के दाम घटने और चीनी सामान पर अमेरिकी टैरिफ बढ़ने के बावजूद रुपये में जबरदस्त कमजोरी के चलते भारत में चाइनीज सामान 15-20% महंगे रेट पर आ रहे हैं. जुलाई से अब तक लगभग 70% इम्पोर्ट का सामान मंगा लिया गया है. इस दिवाली लाइट्स कम से कम 15-20% महंगे मिलने का अनुमान है.

ड्राई फ्रूट्स और मसालों के थोक मंडी खारी बावली में इंडो-अफगान चैंबर ऑफ कॉमर्स के जनरल सेक्रटरी विकास बंसल ने बताया ‘ज्यादातर बादाम अमेरिका से आते हैं, जबकि काजू, पिस्ता व दूसरे प्रॉडक्ट्स भी इम्पोर्ट पर निर्भर हैं. इस साल रुपया 12% से ज्यादा गिरा है, सरकार ने अमेरिकी ड्राई फ्रूट्स पर ड्यूटी भी बढ़ाए हैं इससे कीमतें बढ़ी हैं.

 पिछले साल 650 से 800 की रेंज बिकने वाला बादाम 700-1100 रुपये किलो हो चुका है. अमेरिकी और ईरानी पिस्ता के दाम 15-20% चढ़कर 1100 रुपये किलो तक जा पहुंचे हैं. चॉकलेट, क्रॉकरी और गिफ्ट आइटमों के बाजार में भी इम्पोर्टर रुपये की सेहत को लेकर बहुत भरोसेमंद नहीं हैं और त्योहारी सामान जल्द स्टॉक करने में लगे हैं यहां भी कीमतें 30% तक बढ़ चुकी हैं.

First published: 18 September 2018, 16:14 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी