Home » बिज़नेस » SBI changes these rules for saving account holders minimum and old Cheque books
 

आज से SBI ने बदल दिए नियम, जानें कौन सा शुल्क बढ़ा, किसमें आई कमी

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 April 2018, 15:50 IST

1 अप्रैल से नया वित्त वर्ष शुरु हो गया. इस वित्त वर्ष में कई चीजों दामों में सरकार ने बढ़ोतरी की है तो लोगों को कुछ राहत भी दी है. जिनमें बैंकिंग सेवाओं के बदले लिए जाने वाले शुल्क भी शामिल हैं. पब्लिक सेक्टर के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक ने भी 3 नए बदलाव किए हैं. जिनसे SBI खाता धारकों को कुछ लाभ जरूर मिलेगा.

ये हैं SBI के नए बदले हुए नियम-

मिनिमम बैलेंस पर कम किया चार्ज

एसबीआई ने बैंक खाते में मंथली बैलेंस न होने पर लगने वाले चार्ज को कम कर दिया गया है. इन नियम के अनुसार SBI के शहरी अकाउंट होल्डर्स को अब मिनिमम बैलेंस ना रखने पर 15 रुपये शुल्क देना होगा, जो पहले शहरों 50 रुपये था. वहीं अर्धशहरी क्षेत्र के अकाउंट होल्डर्स से मिनिमम बैलेंस ना रखने पर 12 रुपये शुल्क वसूला जाएगा. जो पुराने नियमों के मुताबिक 40 रुपये था. वहीं ग्रामीण इलाकों की बैंक के खाताधारकों को अब 10 रुपये मिनिमम बैलेंस ना होने पर देने होंगे. ये शुल्क ग्रामीण इलाकों के खाताधारकों के लिए पहले 40 रुपये हुआ करता था.

10 अप्रैल तक मिलेंगे इलेक्टोरल बॉन्ड

पूरे भारत में इलेक्टोरल बॉन्ड की बिक्री का 2 अप्रैल से शुरू हो जाएगी. ये बॉन्ड देशभर में एसबीआई की 11शाखाओं में ही मिलेंगे. जिनमें दिल्ली, गुवाहाटी, भोपाल शहर शामिल हैं. इलेक्टोरल बॉन्ड की बिक्री 10 अप्रैल तक की जाएगी.

रद्दी हो गई पुरानी चैक बुक

SBI के नए नियमों के मुताबिक पुरानी चैक बुक से कोई लेन देन नहीं किया जा सकेगा. बता दें कि एसबीआई ने अपने ग्राहकों को 31 मार्च तक चेक बुक बदलने को कहा था. एसबीआई ने कहा है कि 31 मार्च तक एसोसिएट बैंकों के सभी ग्राहकों को चाहिए कि वह नई चेकबुक हासिल कर लें. 1 अप्रैल से इन चेकबुक के जरिए लेनदेन नहीं होगा

ये भी पढ़ें- Easter Day 2018: दुनिया भर में मनाया जा रहा है ईस्टर संडे, ये है परंपरा

First published: 1 April 2018, 15:50 IST
 
अगली कहानी