Home » बिज़नेस » Sbi new formula to reduce petrol and diesel price
 

SBI के इस फाॅर्मूले को लागू करती है सरकार तो सस्ते हो जाएंगे पेट्रोल-डीजल के दाम

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 May 2018, 14:15 IST

देश में रोजाना पेट्रोल आैर डीजल के दामों में बढ़ोत्तरी हो रही है. जिससे पेट्रोल आैर डीजल के दाम रिकाॅर्ड स्तर पर पहुंच गए हैं. ऐसे में देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक स्टेट बैंक आॅफ इंडिया ने बढ़ती कीमतों को काबू में करने के लिए सरकार को एक फाॅर्मूला दिया है. एसबीआई ने कहा है कि अगर इस फाॅर्मूले को अप्लार्इ किया जाता है, तो देश में पेट्रोल आैर डीजल की कीमतों में बड़ी कटौती हो सकती है.

ये भी पढे़ं-राष्ट्रपति कोविंद को ब्रह्मा मंदिर में घुसने नहीं दिया तो पुजारी पर धारदार हथियार से हमला!

बता दें कि एसबीआर्इ ने अपनी एक रिपोर्ट में डीजल और पेट्रोल की कीमतों को कम करने और आम जनता को राहत देने के लिए एक नए प्राइसिंग मकैनिज्‍म पर विचार करने का सुझाव दिया है. इस फाॅर्मूले के अनुसार अगर राज्‍य सरकार बेस प्राइस पर वैट लगायेगा, तो पेट्रोल की कीमत लगभग 5.75 रुपये प्रति लीटर सस्‍ता हो सकता है. वहीं इसी तरह अगर डीजल के बेस प्राइस पर वैट लगाया जाता है, तो डीजल प्रति लीटर 3.75 रुपये प्रति लीटर तक सस्‍ता हो सकता है.

गौरतलब है कि वर्तमान में पेट्रोल-डीजल पर वैट, उस कीमत पर लगता है, जिसमें केंद्र सरकार का टैक्‍स भी शामिल होता है. वहीं एसबीआर्इ ने पेट्रोल-डीडल के बेस प्राइस पर वैट लगाने का सुझाव दिया है. जिससे पेट्रोल की कीमत लगभग 5.75, तो वहीं डीजल प्रति लीटर 3.75 रुपये तक सस्ता हो सकता है.

लेकिन एक तरफ जहां इस फाॅर्मूले से आम आदमी को राहत मिलेगी, वहीं इस रिपोर्ट के अनुसार राज्य सरकार को 34, 000 करोड़ का राजस्व का नुकसान उठाना पड़ सकता है. बता दें, अंतरराष्‍ट्रीय बाजार में डीजल और पेट्रोल की बढ़ती कीमतों के बीच केंद्र सरकार से डीजल और पेट्रोल पर सेंट्रल एक्‍साइज में कटौती करने की मांग हो रही है.

ये भी पढ़ें-16वें दिन भी बढ़े दाम, पेट्रोल-डीजल पर NITI आयोग ने दिया टैक्स कम करने का सुझाव

वहीं मौजूदा समय में केंद्र सरकार पेट्रोल पर प्रति लीटर 19.18 रुपए और डीजल पर प्रति लीटर 15.33 रुपए फिक्‍स एक्‍साइज ड्यूटी वसूलती है. इसके साथ राज्‍य पेट्रोल और डीजल की खपत पर एड वॉलोरेम टैक्‍स लगाते हैं. बता दें, गोवा पेट्रोल पर सबसे कम 16.62 फीसदी यह टैक्‍स लगाता है जबकि महाराष्‍ट्र पेट्रोल पर सबसे अधिक 39.27 फीसदी यह टैक्‍स लगाता है. अखिल भारतीय स्‍तर पर इस टैक्‍स का औसत 26.34 फीसदी है.

First published: 29 May 2018, 14:15 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी