Home » बिज़नेस » SBI, the country's largest government bank, can give retirement to over 30,000 employees
 

देश का सबसे बड़ा सरकारी बैंक SBI 30,000 से ज्यादा कर्मचारियों को देने जा रहा है वीआरएस

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 September 2020, 9:09 IST

देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक (SBI) ने अपनी लागतों को कम करने के लिए एक स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना (VRS) की योजना बनाई है, जिसके तहत लगभग 30,190 कर्मचारियों को रिटायरमेंट दिया जा सकता हैं. एसबीआई की कुल कर्मचारी संख्या मार्च 2020 के अंत में 249,000 थी जो एक साल पहले 257,000 थी. एक रिपोर्ट के अनुसार सूत्रों का कहना है कि वीआरएस के लिए एक मसौदा योजना तैयार की गई है और बोर्ड की मंजूरी का इंतजार है. प्रस्तावित योजना 'सेकंड इनिंग्स टेप वीआरएस 2020' का उद्देश्य मानव संसाधन और बैंक की लागतों का अनुकूलन करना है.

पीटीआई के अनुसार ड्राफ्ट स्कीम में कहा गया है कि यह उन कर्मचारियों को एक विकल्प और सम्मानजनक निकास मार्ग (exit route) प्रदान करेगा जो अपने करियर में आखिरी स्तर तक पहुंच गए हैं. ऐसे कर्मचारी जो अपने व्यक्तिगत या अन्य कारणों से रिटायर लेना चाहते हैं, उनके लिए भी यह विकल्प मौजूद है. यह योजना उन सभी स्थायी अधिकारियों और कर्मचारियों के लिए खोली जाएगी जिन्होंने 25 साल की सेवा पूरी कर ली है या कट-ऑफ की तारीख तक 55 वर्ष पूरे कर लिए हैं.


यह योजना 1 दिसंबर को खुलेगी और फरवरी के अंत तक चलेगी. इस अवधि के दौरान ही वीआरएस के लिए आवेदन स्वीकार किए जाएंगे. प्रस्तावित पात्रता मानदंड के अनुसार कुल 11,565 ऑफिसर और 18,625 स्टाफ सदस्य इस योजना के लिए पात्र होंगे. अगर 30 प्रतिशत पात्र कर्मचारी जुलाई 2020 के वेतन के आधार पर इस योजना के तहत सेवानिवृत्ति का विकल्प चुनते हैं तो बैंक की इससे कुल शुद्ध बचत 1,662.86 करोड़ रुपये होगी.

इस योजना के तहत सेवानिवृत्त होने वाला स्टाफ सदस्य सेवानिवृत्ति की तिथि से दो वर्ष की अवधि के लिए कूलिंग ऑफ पीरियड के बाद बैंक में पुन: रोजगार के लिए पात्र होगा. 2017 में एसबीआई के पांच सहयोगियों के मर्जर के बाद कंपनियों ने अपने कर्मचारियों के लिए वीआरएस की घोषणा की थी. 2001 में भी बैंक ने मानव संसाधन के अनुकूलन के उद्देश्य से वीआरएस की घोषणा की थी. हालांकि प्रस्तावित वीआरएस योजना बैंक यूनियनों के पक्ष में नहीं है. यह कदम ऐसे समय में उठाया जा रहा है जब देश कोरोनावायरस (Covid-19) की चपेट में है.

Gold Price Today: गोल्ड की कीमतों में फिर आ गई बड़ी गिरावट, आज ये हैं दिल्ली, पटना, लखनऊ के दाम

First published: 7 September 2020, 8:59 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी