Home » बिज़नेस » SBI to ask returns money from bank employees for overtime demonetization
 

SBI ने कर्मचारियों से नोटबंदी के ओवर टाइम का पैसा मांगा वापिस

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 July 2018, 18:46 IST

साल 2016 के महीने नवबंर की 8 तारीख पूरे भारत के लोगों के लिए परेशानी बन गई थी. इस नोटबंदी में बैंक कर्मचारियों को बहुत परेशानी आई थी बैंकों के लाखों कर्मचारियों को हर दिन 3 से 8 घंटे तक ओवर टाइम काम करना पड़ा था.

कर्मचारियों को नोटबंदी के दौरान ओवरटाइम करने के लिए भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने एक्स्ट्रा अमाउंट पे किया था लेकिन वह अब यह पैसा वापिस लेना चाहती है. इस मामले में एसबीआई के सहयोगी बैंको के 70,000 कर्मचारी नाराज हैं.


नोटबंदी के दौरान इन कर्मचारियों से जमकर काम कराया गया था और वादा किया गया था कि उन्हें भुगतान किया जाएगा. इसके बाद उन्हें ओवरटाइम के लिए पैसा भी मिला था, ओवरटाइम के लिए अधिकारियों को 30,000 और अन्य कर्मचारियों को 17,000 रुपये तक का भुगतान किया गया था.

अब एसबीआई ने अपने जोन्स को निर्देश दिए हैं कि कर्मचारियों को जो एक्स्ट्रा भुगतान किया गया था उसे वापस लिया जाए. इस मामले में एसबीआई ने एक लेटर जारी करते हुए कहा कि, यह भुगतान सिर्फ उन कर्मचारियों के लिए था जो कि एसबीआई की शाखाओं में काम करते थे.

बता दें कि एसबीआई पूर्व एसोसिएट बैंकों में स्टेट बैंक ऑफ पटियाला, स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद, स्टेट बैंक ऑफ मैसूर, स्टेट बैंक ऑफ ट्रावणकोर और स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर और जयपुर के कर्मचारी भी शामिल हैं.

एक वरिष्ठ अधिकारी ने ऑफ द रिकॉर्ड बताया, "भुगतान गलती से कर दिया गया था. 2017 में एसबीआई में विलय किए गए एसोसिएट बैंकों के कर्मचारियों के पहले के वेतन या अन्य पिछले बकाए की जिम्मेदारी एसबीआई की नहीं है. इसलिए इसकी जांच का निर्णय लिया गया."

ये भी पढ़ें: स्विस बैंक में इन छह भारतीय निष्क्रिय खाताधारकों के हैं 300 करोड़, नहीं आ रहा है कोई सामने

First published: 16 July 2018, 18:46 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी