Home » बिज़नेस » SBI to stop handling payments for oil imports from Iran: Indian Oil
 

ईरान के तेल पर पेमेंट से SBI का इंकार, बढ़ सकता है तेल का महासंकट

कैच ब्यूरो | Updated on: 15 June 2018, 16:09 IST

इंडियन ऑयल के वित्त प्रमुख ने शुक्रवार को कहा कि भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने सभी रिफाइनियरियों को सूचित किया है कि वह नवंबर से तेहरान से आने वाले कच्चे तेल के भुगतान को नहीं संभाल पाएगा. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने पिछले महीने ईरान के साथ अंतरराष्ट्रीय परमाणु समझौते से बाहर निकलने का फैसला किया था जिसके बाद स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया ने प्रतिबंधों के कारण ये कदम उठाया है.

एसबीआई के इस कदम के बाद भारत के तेल इम्पोर्ट पर असर पड़ने की संभावना है. इससे पहले सरकार ने 2017-18 में तेहरान से एक विशाल गैस क्षेत्र पर विवाद के कारण आयात में कटौती की थी लेकिन फिर भी ईरान तीसरा सबसे बड़ा तेल सप्लायर बना हुआ था. ईरान से 31 मार्च 2018 वित्तीय वर्ष में लगभग 458,000 बैरल प्रति दिन (बीपीडी) या भारत के 4.5 मिलियन से अधिक बीपीडी आयात किया.

ये भी पढ़ें : अनिल अंबानी की रक्षा मंत्रालय में शिकायत, कहा- 20 हजार करोड़ का प्रोजेट छीनने की हो रही साजिश

पिछली बार के प्रतिबंधों के तहत अमेरिका ने भारत को इजाजत दे दी थी कि ईरान को कुछ पेमेंट रुपये में कर दिया जाए. यह छूट एक बार्टर डील के तहत मिली थी. आईओसी और अन्य कंपनियों के मुताबिक भारत के रिफाइनर वर्तमान में एसबीआई और जर्मनी स्थित यूरोपाइश-ईरानिस हैंडल्सबैंक एजी (ईआईएच) का उपयोग यूरो में ईरानी तेल खरीदने के लिए करते हैं.

रिपोर्ट के अनुसार रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ईरान से तेल आयात रोकने की योजना बना रहे हैं, जबकि रोसनेफ्ट द्वारा प्रचारित नायरा एनर्जी ने इस महीने से खरीदारी में कटौती शुरू कर दी है. गौरतलब है कि चीन के बाद ईरान का सबसे बड़ा तेल ग्राहक भारत है.

First published: 15 June 2018, 15:53 IST
 
अगली कहानी