Home » बिज़नेस » SBI wrote off ₹1 trillion in last two years to clean up its loan book
 

SBI ने दो साल में एक लाख करोड़ रुपये बट्टे खाते में डाल दिए : रिपोर्ट

कैच ब्यूरो | Updated on: 14 May 2019, 10:58 IST

देश के सबसे बड़े ऋणदाता भारतीय स्टेट बैंक (SBI) मार्च में समाप्त हुए दो वर्षों में 1 ट्रिलियन के ऋण को राइटऑफ कर दिया. बैंक ने इस साल समाप्त मार्च में 61,663 करोड़ और पिछले वित्त वर्ष में अतिरिक्त 40,809 करोड़, कुल मिलाकर 1.02 ट्रिलियन के कर्ज को राइटऑफ किया.

मिंट में छपी एक रिपोर्ट के अनुसार वित्त वर्ष 2019 में राइटऑफ किये गए ऋणों के एक बड़े हिस्से के साथ, एसबीआई का बकाया एनपीए 23% वर्ष-दर-वर्ष (y-o-y) से घटकर 1.72 ट्रिलियन रह गया. इस बीच एसबीआई की ऋण वसूली और ऋण अपग्रेड ने वित्त वर्ष 19 में 31,512 करोड़ का आंकड़ा छुआ.  31 मार्च 2017 को समाप्त हुए तीन वर्षों में 28,632 करोड़ ऋण की वसूली और अपग्रेड होने के बावजूद, पिछले दो वर्षों में SBI को 45,429 करोड़ वापस मिल सकते हैं.

 

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि बैंक एक बार बैड लोन को अगर राइटऑफ का देता है तो उसका वापस आना असंभव हो जाता है. पिछले पांच वर्षों में SBI ने राइटऑफ खातों से 22,859 करोड़ की वसूली की है, जिसमें से 13,678 करोड़ वित्तीय वर्ष 18 और FY19 में आए. SBI ने वित्त वर्ष 2016 की चौथी तिमाही में 838.40 करोड़ का शुद्ध लाभ अर्जित किया.

 यात्री वाहनों की बिक्री में आयी रिकॉर्ड गिरावट, दुपहिया वाहन भी नहीं बिक रहे

First published: 14 May 2019, 10:54 IST
 
अगली कहानी