Home » बिज़नेस » Sensex Closes 105 Points Down On Profit Booking
 

मुनाफावसूली से टूटा सेंसेक्स, निफ्टी 8,850 के नीचे फिसला

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 September 2016, 16:36 IST
QUICK PILL
  • हफ्ते के आखिरी ट्रेडिंग सेशन में मुनाफावसूली की वजह से सेंसेक्स में जहां 105 अंकों की गिरावट आई वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 8,850 के अहम सपोर्ट लेवल को तोड़ते हुए 8,831.55 पर बंद हुआ. 
  • शुक्रवार की सुबह सेंसेक्स करीब 30 अंकों की मामूली बढ़त के साथ 28.810.32 अंक पर खुला. बाद में हुई मुनाफावसूली से सेेंसेक्स में कमजोरी आई और यह 104.91 अंक टूटकर 28,668.22 पर बंद हुआ. 
  • गुरुवार को फेडरल रिजर्व की सितंबर महीने में होने वाली समीक्षा बैठक में ब्याज दरों में बढ़ोतरी नहीं किए जाने के फैसले के बाद बाजार में तेजी आई थी. लेकिन वह तेजी शुक्रवार को बरकरार नहीं रह पाई. 

हफ्ते के आखिरी ट्रेडिंग सेशन में मुनाफावसूली की वजह से सेंसेक्स में जहां 105 अंकों की गिरावट आई वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 8,850 के अहम सपोर्ट लेवल को तोड़ते हुए 8,831.55 पर बंद हुआ. 

शुक्रवार की सुबह सेंसेक्स करीब 30 अंकों की मामूली बढ़त के साथ 28.810.32 अंक पर खुला. बाद में हुई मुनाफावसूली से सेंसेक्स में कमजोरी आई और यह 104.91 अंक टूटकर 28,668.22 पर बंद हुआ. 

सेंसेक्स में रिलायंस, डॉक्टर रेड्डीज, टीसीएस और एचडीएफसी मजबूती के साथ बंद हुए वहीं ल्यूपिन, इंफोसिस, पावर ग्रिड और आईसीआईसीआई बैंक लाल निशान में बंद हुए. सेंसेक्स में सबसे अधिक नुकसान एक्सिस बैंक के शेयरों में हुआ. एक्सिस बैंक का शेयर करीब 6 फीसदी टूटकर 557.40 पर बंद हुआ.

मुनफावसूली के बीच हालांकि मिडकैप और स्मॉल कैप में मजबूती देखने को मिली. एसऐंडपी बीएसई मिड कैप इंडेक्स 37.41  की मजबूती के साथ 13,331.97 पर बंद हुआ जबकि स्मॉल कैप इंडेक्स करीब 10 अंकों की मजबूती के साथ बंद हुआ.

गुरुवार की तेजी के बाद ह़फ्ते के आखिरी दिन ऑटो इंडेक्स में मुनाफावसूली दिखी, जिसकी वजह से इंडेक्स करीब 54 अंक टूटकर 22,642.26 पर बंद हुआ. सेंसेक्स में आई कमजोरी की वजह बैंकिंग स्टॉक का टूटना रहा. 

बीएसई सेंसेक्स में सबसे अधिक नुकसान एक्सिस बैंक के शेयरों में हुआ. बैंक का शेयर करीब 6 फीसदी तक टूट गया.

एसऐंडपी इंडेक्स में सबसे अधिक नुकसान बैंकिंग इंडेक्स को हुआ. बीएसई बैंकिंग इंडेक्स करीब 300 अंक फिसलकर 22,752.65 अंक पर बंद हुआ. बैंकिंग स्टॉक में सबसे अधिक नुकसान एक्सिस बैंक में हुआ. 

मेटल इंडेक्स मामूली 18 अंक की तेजी के साथ 9,837.68 पर बंद हुआ जबकि ऑयल एंड गैस 84 अंकों की मजबूती के साथ बंद हुआ.

ऑयल एंड गैस इंडेेक्स में सबसे अधिक मजबूती आईजीएल, हिंद पेट्रो और रिलायंस के शेयरों में आई. वहीं ओआईएल का शेयर करीब 1 फीसदी से अधिक की कमजोरी के साथ बंद हुआ. 

वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी मुनाफावसूली की वजह से 8850 के अहम सपोर्ट लेवल से नीचे चला गया. निफ्टी 0.40 फीसदी टूटकर 8,831.55 अंक पर बंद हुआ.

निफ्टी में 12 शेयर हरे निशान में जबकि 37 शेयर लाल निशान में बंद हुए. वहीं 2 शेयरों में किसी तरह का बदलाव देखने को नहीं मिला. 

फेडरल बैठक के बाद टूटा बाजार

फेडरल रिजर्व की बैठक  में ब्याज दरों में बढ़ोतरी  नहीं किए जाने के फैसले के बाद गुरुवार को बाजार में करीब 350 से अधिक अंकों की तेजी आई थी. बैंक ऑफ जापान के ब्याज दरों में किसी तरह की बढ़़ोतरी नहीं किए जाने के बाद भी बाजार की नजर फेडरल रिजर्व के फैसले पर थी.

गुरुवार को फेडरल रिजर्व की सितंबर महीने में होने वाली समीक्षा बैठक में ब्याज दरों में बढ़ोतरी नहीं किए जाने के फैसले के बाद बाजार में तेजी आई थी. लेकिन वह तेजी शुक्रवार को बरकरार नहीं रह पाई. 

फेड ने यह साफ कर दिया है कि फिलहाल ब्याज दरों में बढ़ोतरी नहीं होगी लेकिन उसने दिसंबर तक मजबूत मौद्रिक नीति को अपनाए जाने के संकेत जरूर दिए हैं. बैंक को लगता है कि दिसंबर तक अमेरिकी अर्थव्यवस्था की स्थिति ब्याज दरों के बढ़ाने लायक होगी. 

फेडरल रिजर्व के फैसले के बाद उछला भारतीय शेयर बाजार

तेजी के बाद फिसला सेंसेक्स, फेडरल रिजर्व के नतीजों पर नजर

कोल इंडिया के बाद दूसरे बड़े आईपीओ के साथ आईसीआईसीआई प्रू ने दी बाजार में दखल

First published: 23 September 2016, 16:36 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी