Home » बिज़नेस » Shock to Anil Ambani, UK court order - pay $ 700 million to Chinese banks
 

अनिल अंबानी को झटका, ब्रिटेन की अदालत का आदेश- चीनी बैंकों को चुकाएं 700 मिलियन डॉलर की रकम

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 May 2020, 12:14 IST

मुकेश अंबानी जहां शेयर बेचकर लगातार कमाई कर रहे हैं वहीं छोटे भाई अनिल अंबानी को ब्रिटेन की अदालत ने बड़ा झटका दिया है. अदालत ने अनिल अंबानी को चीन के तीन बड़े बैंकों को 700 मिलियन डॉलर (लगभग 71.7 करोड़ डॉलर ) का भुगतान करने का आदेश दिया है. ब्रिटेन की अदालत में न्यायाधीश निजेल टियरे ने एक फैसले में कहा बिजनेस टाइकून, जिसने अपनी नेट वर्थ शून्य बताई थी, को भुगतान करने के लिए 21 दिन का समय जाता है.

कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर लागू प्रक्रियाओं के तहत सुनवाई करते हुए न्यायमूर्ति निजेल टियरे ने कहा कि अंबानी जिस व्यक्तिगत गारंटी को विवादित मानते हैं वह उन पर बाध्यकारी है. न्यायमूर्ति टियरे ने अपने आदेश में कहा कि अनिल अंबानी पर गारंटी बाध्यकारी है. ऐसे में अंबानी को चीन के बैंकों को गारंटी के रूप में 700 मिलियन डॉलर चुकाने होंगे. अनिल अंबानी एशिया के सबसे धनी व्यक्ति, मुकेश अंबानी के छोटे भाई हैं. मुकेश इससे पहले भी छोटे भाई की कर्ज के मामले में मदद कर चुके हैं, जब अनिल अंबानी को कर्ज न चुकाने पर कैद हो सकती थी.

इस बीच अनिल अंबानी ने इस साल की शुरुआत में लंदन की एक अदालत को बताया कि उनका निवेश का मूल्य कम हो गया है. उन्होंने कहा "मेरे पास ऐसी कोई सार्थक संपत्ति नहीं है, जिसे इन कार्यवाहियों के लिए अलग किया जा सके." चीन के तीन सरकारी बैंकों ने अंबानी से रकम चुकाने की मांग की है. ये बैंक इंडस्ट्रियल एंड कमिर्शियल बैंक और चाइना लि. मुंबई शाखा, चाइना डेवलपमेंट बैंक और एक्जिम बैंक हैं.

एक रिपोर्ट के अनुसार कंपनी के प्रवक्ता ने कहा ''साफ़ है कि यह अंबानी का व्यक्तिगत ऋण नहीं है. इंडस्ट्रियल एंड कमर्शियल बैंक ऑफ चाइना ने यह दावा कथित रूप से उस गारंटी के आधार पर किया है जिस पर अंबानी ने कभी हस्ताक्षर नहीं किए थे. अंबानी लगातार कहते रहे हैं कि उन्होंने अपनी ओर से किसी को यह गारंटी देने के लिए अधिकृत नहीं किया."

Coronavirus : 30 साल में पहली बार चीन ने नहीं रखा जीडीपी ग्रोथ के लिए कोई लक्ष्य

RBI ने दी खुशखबरी: 6 महीने तक EMI नहीं चुकाने पर भी लोन डिफॉल्ट नहीं होगा

First published: 23 May 2020, 12:09 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी