Home » बिज़नेस » slowdown in biscuit industry, Parle could lay off 10,000 workers : Report
 

बिस्कुट इंडस्ट्री में पहुंची मंदी. पारले ने कहा जा सकती है 10000 लोगों की नौकरी

कैच ब्यूरो | Updated on: 21 August 2019, 13:09 IST

भारत की सबसे बड़ी बिस्किट बनाने वाली कंपनी पारले प्रॉडक्ट्स प्राइवेट लिमिटेड को 10,000 से ज्यादा कर्मचारियों की छंटनी करनी पड़ सकती है. एशिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था में मंदी के कारण आटोमोबाइल्स से लेकर रिटेल प्रोडक्ट सेक्टर तक प्रभावित हुआ है.

कंपनियों को उत्पादन और भर्ती पर लगाम लगाने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है. इकनोमिक टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार पारले के केटेगरी हेड मयंक शाह के हवाले से कहा, "हमने जीएसटी में कटौती की मांग की है लेकिन अगर सरकार ये नही करती है तो हमारे पास 8,000-10,000 लोगों को नौकरी से निकालने के अलावा कोई चारा नही बचेगा. पारले अपने पारले-जी और बिस्कुट के मैरी ब्रांड अकेली कंपनी नही जिनकी में कमी आ रही है.

इस महीने की शुरुआत में बिस्कुट बनाने वाली कंपनी ब्रिटानिया इंडस्ट्रीज लिमिटेड के प्रबंध निदेशक वरुण बेरी ने कहा कि उपभोक्ता सिर्फ 5 रुपये ($ 0.07) के उत्पाद खरीदने के बारे में दो बार सोच रहे थे.

जाहिर है अर्थव्यवस्था में कुछ गंभीर समस्या है. इससे पहले कपडा उद्योग ने अख़बार में विज्ञापन छपवाकर चेतवानी दी थी कि मांग कि कमी के कारण बड़ी संख्या में नौकरियां जा सकती हैं. इसी तरह चाय उद्योग भी इसी मंदी की समस्या से जूझ रहा है.  

ऑटो के बाद कपड़ा इंडस्ट्री संकट में, अख़बार में छपवाया नौकरियां जाने का विज्ञापन

First published: 21 August 2019, 11:42 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी