Home » बिज़नेस » SpiceJet flies India’s first biofuel flight, from Dehradun to Delhi
 

जैव ईंधन से SpiceJet ने उड़ाया विमान, पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने बताया बड़ी उपलब्धि

कैच ब्यूरो | Updated on: 27 August 2018, 15:42 IST

स्पाइसजेट ने सोमवार को देश की पहली जैव ईंधन (बायोफ्यूल) से संचालित उड़ान उड़ान भर दी, जो सोमवार सुबह देहरादून से दिल्ली के लिए उडी. इंडियन एक्सप्रेस ने सूत्रों के हवाले से लिखा, कम बजट वाली इस एयरलाइन ने स्पाइसजेट की क्यू 400 टर्बोप्रॉप उड़ान ने 75 प्रतिशत बायो-ईंधन और टरबाइन ईंधन के 25 प्रतिशत का मिश्रण से यह उड़ान भरी.

जेट्रोफा क्रॉप से बने ईंधन को उत्तराखंड के देहरादून में स्थित भारतीय पेट्रोलियम संस्थान द्वारा विकसित किया गया है. जैव ईंधन उड़ानें एयर ट्रैवल क्लीन बनाती हैं और कार्बन उत्सर्जन को कम करके अधिक कुशल बनाती हैं. जिससे एयरलाइन परिचालनों की लागत में भारी कमी आती है.

विमानन नियामक डीजीसीए और स्पाइसजेट के अधिकारियों सहित लगभग 20 लोग 78 सीट वाले विमान में मौजूद थे. एक एयरलाइन कार्यकारी के अनुसार परीक्षण उड़ान की अवधि करीब 25 मिनट थी. केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान जो दिल्ली हवाई अड्डे पर मौजूद थे, ने उड़ान को विमानन क्षेत्र में बड़ी उपलब्धि बताया.

उन्होंने कहा ''10 अगस्त को प्रधानमंत्री मोदी ने नई जैव ईंधन नीति की घोषणा की और आज हमने इसे विमानन क्षेत्र में सफलतापूर्वक कार्यान्वित किया है. यह विमानन और स्वच्छ ऊर्जा क्षेत्र में एक बड़ी उपलब्धि है''.

 

बायो जेट ईंधन को अमेरिकी मानक परीक्षण विधि (एएसटीएम) द्वारा मान्यता प्राप्त है और विमान में वाणिज्यिक अनुप्रयोग के लिए प्रैट एंड व्हिटनी और बॉम्बार्डियर के विनिर्देश मानकों को पूरा करता है. यह एक बड़ी उपलब्धि है क्योंकि उच्च वायु टरबाइन ईंधन (एटीएफ) की कीमतों ने भारत के घरेलू एयरलाइन क्षेत्र को महंगा किया है, जिसमें सभी प्रमुख खिलाड़ियों ने 2018-19 की पहली तिमाही मे घटा दर्ज किया है.

स्पाइसजेट के प्रबंध निदेशक अजय सिंह ने कहा कि बायोजेट ईंधन कम लागत है और कार्बन उत्सर्जन में काफी कमी लाने में मदद करता है. उन्होंने कहा, "इसमें प्रत्येक उड़ान पर 50 प्रतिशत तक पारंपरिक विमानन ईंधन पर निर्भरता को कम करने और किराए पर उतरने की क्षमता है."

ये भी पढ़ें : अनिल और मुकेश अंबानी के बीच आखिरकार 3000 करोड़ का सौदा हो गया पूरा

 

First published: 27 August 2018, 15:38 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी