Home » बिज़नेस » state bank of india allows free imps fund transfer upto one thousand rupee transaction.
 

SBI की ग्राहकों को सौगात, मनी ट्रांसफर पर मिली राहत

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 July 2017, 14:19 IST

देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने 1000 रुपये तक के आईएमपीएस (तत्काल भुगतान सेवा) हस्तांतरण पर शुल्क समाप्त कर दिया है. इससे पहले 1,000 रुपये तक के आईएमपीएस लेनदेन पर सर्विस टैक्स के साथ स्टेट बैंक 5 रुपये का शुल्क वसूल रहा था. 

उल्लेखनीय है कि आईएमपीएस एक तत्काल अंतरबैंकिंग इलेक्ट्रॉनिक कोष हस्तांतरण सेवा है. इसका उपयोग मोबाइल फोन और इंटरनेट बैंकिंग दोनों माध्यम से किया जा सकता है. 

बैंक का कहना है, "छोटे लेन-देन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से उसने 1,000 रुपये तक के आईएमपीएस हस्तांतरण पर शुल्क माफ कर दिया है." वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) लागू होने के बाद वित्तीय लेन-देन पर 18% की दर से कर लगाए जाने की सूचना देने के दौरान एसबीआई ने यह जानकारी दी है.

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया अब 1,000 रुपये तक के आईएमपीएस हस्तांतरण पर कोई शुल्क नहीं लेगा. इसके अलावा 1,000-1,00,000 रुपये के लेन-देन पर 5 रुपये और 1,00,000 रुपये-2,00,000 रुपये पर 15 रुपये शुल्क देय होगा.

अब ग्राहकों को नए चेक बुक के लिए 10 रुपये, लीफ चेक बुक के लिए 30 रुपये, 25 लीफ के लिए 75 रुपये के अलावा 18 फीसदी जीएसटी और 50 लीफ के लिए 150 रुपये के साथ-साथ कर भुगतान करना होगा. एसबीआई ने कहा है कि 1 जून से नए एटीएम कार्ड पर शुल्क वसूला जाएगा. रुपे क्लासिक कार्ड नि:शुल्क जारी होंगे. 

First published: 13 July 2017, 14:19 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी