Home » बिज़नेस » Strong passenger growth in the past three years air traffic crossing the 100-million
 

जानिए क्यों भारत में इस साल 10 करोड़ लोगों ने किया सफर

कैच ब्यूरो | Updated on: 23 January 2018, 15:50 IST

पिछले तीन वर्षों में भारत में लोगों द्वारा हवाई यात्रा करने में जोरदार वृद्धि  देखी गयी है. एक रिपोर्ट के अनुसार भारत में घरेलू हवाई यातायात 2017 में 100 मिलियन (10 करोड़ ) के पार पहुँच चुका है. जानकारों की माने तो पिछले 36 महीनों में घरेलू बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में आयी गिरावट और किराये में छूट के कारण क्षमता में बढ़ोतरी हुई है. 2010 में एयर ट्रैफिक 50 मिलियन अंक पार कर गया था. जबकि पिछले सात सालों में यात्रियों कि संख्या दोगुनी हो गयी है.

2017 में घरेलू एयरलाइंस ने 116.7 मिलियन यात्रियों को यात्रा करवाई जो कि 2016 से 17.4 प्रतिशत ज्यादा  है. अक्टूबर 2012 में किंगफिशर एयरलाइंस के पतन, हवाई अड्डों में किराए और उपयोगकर्ता शुल्क में वृद्धि से 2012 में ट्रैफिक में तीन फीसदी की गिरावट आई. हालांकि, 2013 और 2014 में यातायात में सुधार हुआ लेकिन ईंधन की कीमतों और क्षमता विस्तार के कारण  2015 और 2016 में 20% से अधिक वृद्धि हुई.

एक रिपोर्ट के अनुसार केपीएमजी में पार्टनर और भारत के प्रमुख (एयरोस्पेस एंड डिफेंस) एम्बर दुबे ने कहा, "यह उच्च वृद्धि उभरती अर्थव्यवस्था, कम कच्चे तेल की कीमत, एयरलाइन के विस्तार के कारण हुई. भारत में बीते 40 महीनों में यात्री दोगुनी यात्री वृद्धि हुई है. 

इंटरनेशनल एयर ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के मुताबिक, ब्रेंट क्रूड ऑयल की कीमत 2015 में 99.9 डॉलर प्रति बैरल से घटकर 2015 में 53.9 डॉलर प्रति बैरल हो गई और 2016 में यह घटकर 44.6 डॉलर प्रति बैरल हो गई. यात्री संख्या में वृद्धि का एक कारण यह भी था. 

First published: 23 January 2018, 15:50 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी