Home » बिज़नेस » Subhash Chandra get Mukesh Ambani out of financial crisis?
 

क्या सुभाष चंद्रा को वित्तीय संकट से मुकेश अंबानी बाहर निकाल सकते हैं ?

सुनील रावत | Updated on: 29 January 2019, 15:10 IST

1.3 बिलियन लोगों के उपभोक्ता बाजार में सबसे बड़े ब्रॉडकास्टर के मालिक बनने का अवसर मुश्किल से ही मिलता है और उससे ज्यादा मुश्किल अवसर भी कम ही आता है जब किसी के शेयरों में एक ही दिन में 26% की दर गिरावट आ जाये. लेकिन भारतीय इन्फ्रास्ट्रक्चर के फाइनेंसर-ऑपरेटर IL & FS ग्रुप के अचानक 12.8 बिलियन डॉलर के दिवालिया होने के कारण ये विशेष स्थिति पैदा हो गई है. एक ही दिन में जी के शेयरों में आयी गिरावट के कारण सिर्फ चंद्रा कंपनी एस्सेल इंफ्रा को ही 4000 से 5000 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है. अब इस संकट ने सुभाष चंद्रा को अपने टीवी साम्राज्य पर नियंत्रण कम करने के लिए मजबूर कर दिया है. 

चंद्रा ने एस्सेल के शेयरों में गिरावट का एक कारण उस खबर को भी बताया जिसमे दावा किया गया है कि एस्सेल के संबंध नित्यांक इंफ्रापावर कंपनी से है जिसकी सरकारी संस्था सीरीयस फ्रॉड इनवेस्टिगेशन ऑफिस (SFIO)की जांच कर रही है. कंपनी पर आरोप है कि उसने 8 नवंबर 2016 को नोटबंदी के तुरंत बाद 3,000 करोड़ रुपये जमा कराए थे.

सुभाष चंद्रा, जिनकी ज़ी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज लिमिटेड के 41% की हिस्सेदारी है. चंद्रा ने अपने पत्र में कहा कि बुनियादी ढांचे में गलत तरीके से दांव लगाने के बाद उन्हें वित्तीय संकट से गुजरना पड़ रहा है. चंद्रा के एस्सेल समूह पर भारी ऋण है. ब्लूमबर्गक्विंट ने 31 मार्च 2017 तक 87 ऑपरेटिंग कंपनियों में 17,000 करोड़ ($ 2.4 बिलियन) के बोझ का अनुमान लगाया है. चंद्रा ने अपने पत्र में इस संकट के लिए IL & FS के ढहने को भी जिम्मेदार बताया है.

हालांकि अभी तक जी शेयर खरीदने में किसी भी बोली लगाने वाले की पुष्टि नहीं हुई है, लेकिन 'बिजनेस स्टैंडर्ड' में एक रिपोर्ट के अनुसार ज़ी के लिए अमेज़न, ऐप्पल इंक, टेनसेंट होल्डिंग्स लिमिटेड, एटीएंडटी इंक की रुचि हो सकती है. भारत के सबसे अमीर व्यक्ति मुकेश अंबानी द्वारा नियंत्रित दूरसंचार ऑपरेटर, रिलायंस जियो इन्फोकॉम लिमिटेड की भी प्रतियोगिता में शामिल होने की संभावना है.

अगर अंबानी इसे हासिल कर लिया तो कैरिज, सामग्री और वाणिज्य का उनका ट्रिपल प्ले भारत में अमेज़ॅन बॉस जेफ बेजोस की बहु-डॉलर की योजना को झटका दे सकता है. भारत में डिजिटल वीडियो की मांग बढ़ रही है और अंबानी डेटा सस्ती दरों पर डेटा दे रहे.

अब Jio के इस ऐप से बुक कीजिये ट्रैन टिकट, साथ में मिलेंगे ये अन्य विकल्प

First published: 29 January 2019, 15:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी