Home » बिज़नेस » Subsidy bill cut by over 4% to Rs 2.31 lakh cr for 2016-17
 

एलपीजी और पेट्रोलियम सब्सिडी पर चली सरकार की कैंची

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 February 2016, 18:52 IST
QUICK PILL
  • बजट 2016-17 में सरकार फूड, फर्टिलाइजर और पेट्रोलियम पर दी जाने वाली सब्सिडी में 4 फीसदी की कटौती कर इसे 2.31 लाख करोड़ रुपये कर दिया है. संसद में पेश किए बजट में सरकार ने वित्त वर्ष 2016-17 के लिए फूड, पेट्रोलियम और फर्टिलाइजर पर दी जाने वाली सब्सिडी की रकम 2,31,781.61 करोड़ रुपये रखी है.
  • पेट्रोलियम सब्सिडी में की गई कटौती की वजह से सरकारी कंपनी ओएनजीसी के शेयरों में भूचाल आ गया. बीएसई में ओनएजीसी का शेयर 9.72 फीसदी टूटकर 194.10 रुपये पर बंद हुआ. वहीं एसऐंडपी ऑयल एंड गैस इंडेक्स पर बिकवाली का जबरदस्त दबाव दिखा. बीएसई ऑयल एंड गैस इंडेक्स 125.14 अंक टूटकर 8214.24 पर बंद हुआ. 

2016-17 में बजट में सरकार कृषि क्षेत्र और ग्रामीण अर्थव्यवस्था पर मेहरबान दिखी. मनरेगा जैसी योजना को उम्मीद के उलट जाते हुए सरकार ने रिकॉर्ड 38,500 करोड़ रुपये का बजटीय आवंटन देकर यह साफ कर दिया कि वह किसान विरोधी पार्टी नहीं है. 

भूमि अधिग्रहण बिल समेत कई अन्य मुद्दों को लेकर विपक्ष एनडीए सरकार को किसान विरोधी साबित करने में एक हद तक कामयाब रही थी जिसे सरकार ने इस बजट के माध्यम से दूर करेन की कोशिश की है.

हालांकि कृषि क्षेत्र और ग्रामीण अर्थव्यवस्था को ध्यान में रखकर किए गए आवंटन की भरपाई सरकार ने दूसरे क्षेत्र के आवंटन में कटौती कर पूरा करने की कोशिश की है. 

बजट 2016-17 में सरकार फूड, फर्टिलाइजर और पेट्रोलियम पर दी जाने वाली सब्सिडी में 4 फीसदी की कटौती कर इसे 2.31 लाख करोड़ रुपये कर दिया है. 

और पढ़ें: एनपीए से जूझ रहे बैंकिंग सेक्टर को 25,000 करोड़ रुपये का बेल आउट

संसद में पेश किए बजट में सरकार ने वित्त वर्ष 2016-17 के लिए फूड, पेट्रोलियम और फर्टिलाइजर पर दी जाने वाली सब्सिडी की रकम 2,31,781.61 करोड़ रुपये रखी है. जबकि 2015-16 के लिए यह रकम 2,41,856.58 करोड़ रुपये थी.

ओएनजीसी हुआ धड़ाम

पेट्रोलियम सब्सिडी में की गई कटौती की वजह से सरकारी कंपनी ओएनजीसी के शेयरों में भूचाल आ गया. बीएसई में ओनएजीसी का शेयर 9.72 फीसदी टूटकर 194.10 रुपये पर बंद हुआ. 

वहीं एसऐंडपी ऑयल एंड गैस इंडेक्स पर बिकवाली का जबरदस्त दबाव दिखा. बीएसई ऑयल एंड गैस इंडेक्स 125.14 अंक टूटकर 8214.24 पर बंद हुआ. 

सरकार ने वित्त वर्ष 2016-17 के लिए 70,000 करोड़ रुपये की फर्टिलाइजर सब्सिडी दी है

ओएनजीसी के अलावा केयर्न में करीब 5 फीसदी की गिरावट आई तो ऑयल इंडिया लिमिटेड का शेयर करीब 3 फीसदी टूटकर 309.50 पर बंद हुआ.  वहीं आईओसी के शेयरों में मामूली मजबूती देखने को मिली. 

फर्टिलाइजर सब्सिडी में की गई कटौती की वजह से राष्ट्रीय केमिकल एंड फर्टिलाइजर्स के शेयरों में करीब 4 फीसदी की गिरावट आई. 

फर्टिलाइजर सब्सिडी में कटौती

सरकार ने 2016-17 के लिए 70,000 करोड़ रुपये की फर्टिलाइजर सब्सिडी दी है जबकि मौजूदा वित्त वर्ष में यह आंकड़ा 72,437.58 करोड़ रुपये रहने का अनुमान है. सरकार ने यूरिया के लिए 51,000 करोड़ रुपये जबकि पीएंडके फर्टिलाइजर्स के लिए 19,0000 करोड़ रुपये का सब्सिडी दिया है.

सरकार ने फूड सब्सिडी के लिए 1,34,834.61 करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया है जबकि पहले यह रकम संशोधित अनुमान के आधार पर 1,39,419 करोड़ रुपये थी.

अगले वित्त वर्ष के लिए 26,947 करोड़ रुपये की सब्सिडी में 19802.79 करोड़ रुपये की रकम एलपीजी सब्सिडी के लिए रखी है जबकि बाकी की रकम केरोसिन पर दी जाने वाली सब्सिडी में खर्च की जाएगी.

यूरिया के लिए आवंटित 51,000 करोड़ रुपये की सब्सिडी में से 40,000 करोड़ रुपये की रकम घरेलू यूरिया जबकि बाकी की रकम आयातित यूरिया पर खर्च की जाएगी. 

और पढ़ें: बजट 2016-17: फूड प्रोडक्ट्स में 100 फीसदी एफडीआई

और पढ़ें: राजकोषीय घाटे को काबू में रखेगी सरकार

और पढ़ें: बजट 2016-17: कार और सिगरेट हुई महंगी

First published: 29 February 2016, 18:52 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी