Home » बिज़नेस » Supreme Court allows RCom to sell telecom assets worth Rs 181 billion to Reliance Jio
 

अनिल अंबानी को SC ने दी राहत, कर्ज चुकाने के लिए बड़े भाई को बेच पाएंगे अपनी संपत्ति

कैच ब्यूरो | Updated on: 4 August 2018, 10:53 IST

सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को अनिल अंबानी के स्वामित्व वाली रिलायंस कम्युनिकेशंस (आरकॉम) को अपने बड़े भाई मुकेश अंबानी द्वारा नियंत्रित रिलायंस जियो को 181 अरब रुपये की दूरसंचार संपत्ति बेचने की अनुमति दे दी है. यह लेनदेन जहां जियो को स्पेक्ट्रम में मदद करेगा वहीं आरकॉम को इससे अपने कर्ज को कम करने में मदद मिलेगी.

बिक्री की पूरी आय आरकॉम के उधारदाताओं को दी जाएगी. जिन्हें पिछले साल जून से भुगतान नहीं किया गया था. उधारकर्ताओं और आरकॉम के बीच समझौते की शर्तों को स्वीडिश फर्म एरिक्सन ने ऑब्जेक्ट किया था. जिसने आरकॉम को उपकरण उपलब्ध कराए थे लेकिन उसे भुगतान नहीं किया गया था.

इस साल मई में एरिक्सन नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (एनसीएलटी) मुंबई ने देनदारियों का भुगतान करने की मांग करने के लिए चला गया था. एनसीएलटी ने आरकॉम के खिलाफ दिवालिया कार्यवाही शुरू की और ऑपरेटर को सितंबर के अंत तक एरिक्सन को 5.5 अरब रुपये का भुगतान करने का आदेश दिया. एनसीएलटी ने कहा यदि सितंबर के अंत तक बकाया राशि का भुगतान नहीं किया जाता है, तो संपत्ति की पूरी बिक्री उलट दी जाएगी. इसके बाद आरकॉम ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी.

सर्वोच्च न्यायालय के दो न्यायाधीशीय खंडपीठ ने शुक्रवार को कहा कि आरकॉम को 1 अक्टूबर तक एरिक्सन को 5.5 अरब रुपये का भुगतान करना होगा. खबर के बाद आरकॉम के शेयर 5.73 फीसदी चढ़कर 15.6 9 रुपये पर बंद हुए.

ये भी पढ़ें : आपके पेट्रोल का बिल हो जायेगा इतना कम, नीति आयोग बना रहा है ऐसा प्लान

First published: 4 August 2018, 10:53 IST
 
अगली कहानी