Home » बिज़नेस » Supreme Court bans BS-3 vehicles & allowed sale of BS-4 from 1 April 2017, more than 8 lakhs vehicles of Automobiles companies turned scrap
 

सुप्रीम कोर्ट के BS-4 आदेश से ऑटोमोबाइल कंपनियों की 8 लाख गाड़ियां बनीं कबाड़

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 March 2017, 18:23 IST

बुधवार को सुप्रीम कोर्ट ने ऑटोमोबाइल कंपनियों को तगड़ा झटका देते हुए 1 अप्रैल 2017 से केवल BS-4 (भारत स्टेज चार) उत्सर्जन मानकों का पालन करने वाले वाहनों की ही बिक्री का आदेश सुना दिया. इसके साथ ही ऑटोमोबाइल कंपनियों के पास स्टॉक में मौजूद करीब 8 लाख वाहन कबाड़ बन गए हैं.

सुप्रीम कोर्ट ने अपने इस अहम फैसले में 1 अप्रैल से BS-3 वाहनों की बिक्री पर रोक लगाने वाले अपने पिछले फैसले को बरकरार रखा है. इस तरह खासकर 2-व्हीलर्स और कमर्शियल वाहन निर्माता कंपनियों को सबसे ज्यादा झटका लगेगा.

सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि व्यावसायिक फायदे से ज्यादा आम लोगों की सेहत महत्वपूर्ण है. इसलिए BS-4 लागू करने की तारीख को आगे नहीं बठाया जा सकता.

गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने देश में 1 अप्रैल 2017 से BS-4 मानक लागू करने का फैसला सुनाया था. लेकिन, कोर्ट के इस आदेश के बाद वाहन निर्माता कंपनियों ने BS-3 स्टॉक बेचने के लिए कोर्ट से 6-8 महीने की मोहलत मांगी थी.

 

कंपनियों के पास स्टॉक में करीब 8.2 लाख गाड़ियां हैं. कोर्ट ने इन वाहनों को बेचने यानी स्टॉक खत्म होने तक BS-4 लागू करने की तारीख बढ़ाने की मांग को खारिज कर दिया है.

कोर्ट ने कहा कि कंपनियों को पता था कि 1 अप्रैल 2017 से BS-4 गाडियां ही बेची जा सकेंगी, फिर कंपनियों ने स्टाक खत्म क्यों नहीं किया. कोर्ट ने यह भी कहा कि लोगों के स्वास्थ्य को ताक पर नहीं रखा जा सकता. बता दें कि BS-3 गाड़ियां स्वास्थ्य के लिए काफी हानिकारक हैं.

सोसायटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्यूफैक्चरर्स (SIAM) की मानें तो ऑटो उद्योग में इस वक्त करीब 8.2 लाख BS-3 वाहन हैं. इनमें 96,724 व्यावसायिक वाहन, 6,71,308 दोपहिया वाहन, 40,048 तिपहिया और 16,198 कारें बची हुई हैं.

दोपहिया वाहनों में सबसे ज्यादा गाड़ियां हीरो मोटोकॉर्प और होंडा मोटरसाइकिल की बची हुई हैं. वहीं, सुप्रीम कोर्ट के इस आदेश के बाद ऑटो और इससे जुड़ी कंपनियों के शेयरों में जबर्दस्त गिरावट देखने को मिली और इनकी खूब बिकवाली हुई.

First published: 29 March 2017, 18:23 IST
 
अगली कहानी