Home » बिज़नेस » supreme court sends three Amrapali real estate Group Directors police custody
 

आम्रपाली ग्रुप के तीन निदेशकों को सुप्रीम कोर्ट ने भेजा पुलिस हिरासत में, ये हैं आरोप

कैच ब्यूरो | Updated on: 9 October 2018, 16:59 IST
(file photo )

सुप्रीम कोर्ट ने खरीददारों को फ्लैट नहीं देने के मामले में कड़ा रुख अख्तियार कर लिया है. सुप्रीम कोर्ट ने आम्रपाली समूह के तीन निदेशकों को गिरफ्तार करने का आदेश दिया है. शीर्ष अदालत ने ये आदेश आम्रपाली ग्रुप के रियल एस्टेट परियोजनाओं को पूरा नहीं करने और खरीददारों को फ्लैट नहीं देने पर दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि फॉरेंसिक ऑडिट के पूरे दस्तावेज उपलब्ध नहीं होने तक तीनों डायरेक्टरों को हिरासत में लिया जाए.

मीडिया खबरों के मुताबिक, सुप्रीम कोर्ट में मंगलवार को सुनवाई के दौरान आम्रपाली के तीनों डायरेक्टरों अनिल कुमार शर्मा, शिव प्रिया और अजय कुमार को पुलिस कस्टडी में भेजने का आदेश दिया है. जिसके बाद तीनों डायरेक्टरों को कस्टडी में भेजा गया है.  

न्यायमूर्ति ने पुलिस को कोर्ट परिसर मेंअंदर बुलाकर तीनों डायरेक्टरों को हिरासत में लेने का आदेष दिया. सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि इनको तब तक के लिए हिरासत में लिया जाए, जब तक वे फॉरेंसिक ऑडिट के पूरे दस्तावेज उपलब्ध नहीं करा देते हैं.

आपको बता दें कि अगस्त में सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने आम्रपाली ग्रुप के मैनेजिंग डायरेक्टर और डायरेक्टरों को कड़ी चेतावनी दी थी. सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि हमसे चालाकी दिखाने की कोशिश ना करें. अगर ऐसा किया गया तो आपको गंभीर परिणाम भुगतने पड़ेंगे. सुप्रीम कोर्ट ने साफ शब्दों में कहा था कि आपने लोगों को घरों के लिए भटकने के लिए मजबूर कर दिया है. हम आपको बेघर कर देंगे. आपकी सारी संपत्ति बेच देंगे. फिर आप भी फ्लैट खरीदारों की तरह घर देखेंगे.

पिछली सुनवाई में सुप्रीम कोर्ट ने प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए प्रपोजल पेश करने के लिए कहा था. सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि आप अदालत को बताएं कि कैसे अपनी सम्पतियों को बेचकर अधूरे हाउसिंग प्रोजेक्ट को पूरा करेंगे. इसके साथ ही डायरेक्टरों को अपनी संपत्ति का ब्योरा पेश करने का आदेश दिया था. इसके साथ ही शीर्ष अदालत ने आम्रपाली समूह के सेवारत निदेशकों या 2008 से अब तक कंपनी छोड़ चुके डायक्टरों का भी ब्योरा देने का आदेश दिया था.

First published: 9 October 2018, 16:05 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी