Home » बिज़नेस » Tata Motors cuts 1,500 managerial jobs
 

टाटा मोटर्स में बंपर छंटनी, एक झटके में 1,500 अफ़सर हुए बेरोज़गार

कैच ब्यूरो | Updated on: 24 May 2017, 11:22 IST
tata motors

टाटा मोटर्स ने अपने यहां बड़े पैमाने पर छंटनी करते हुए प्रबंधक स्तर के 1500 अधिकारियों को कंपनी से चलता कर दिया है. कंपनी की ओर से कहा गया है कि संगठन को पुनगर्ठित करने के प्रयास के तहत यह कदम उठाया गया है.

कंपनी के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यपालक अधिकारी गुएंटेर बट्सचेक ने इस मामले में जानकारी देते हुए कहा कि कुल 13,000 प्रबंधक हैं, जिसमें से 10 से 12 प्रतिशत (1,500 तक) की कटौती की गयी है.

गौरतलब है कि इससे पहले देश की सबसे बड़ी इंजीनियरिंग कंपनी लारसन एंड टूब्रो ने पिछले फाइनेंशियल ईयर 2016-17 में 14,000 कर्मचारियों को बाहर कर दिया था. यह आंकड़ा कंपनी के कुल वर्कफोर्स के 11.2% के बराबर था. एल एंड टी ग्रुप ने यह कदम बिजनेस में आई मंदी के चलते अपने वर्कफोर्स को ‘सही लेवल’ पर लाने की कोशिश के तहत उठाया था.

कंपनी का कहना था कि ग्रुप में डिजिटाइजेशन के चलते बड़ी संख्या में कर्मचारियों के लिए कोई काम नहीं बचा था, जिसके चलते यह छंटनी की गई. वहीं भारत के बड़े बैंकों में से एक एचडीएफसी ने भी अक्टूबर से लेकर दिसंबर की तिमाही में अपने 4,500 कर्मचारियों को काम से निकाला था. बैंक ने इसकी वजह लागत बढ़ना बताया था. बैंक की आय वृद्धि 18 साल के निचले स्तर पर गिर गई और लागत पर खर्चा बढ़ गया.

First published: 24 May 2017, 11:22 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी