Home » बिज़नेस » Tejas Express passengers committing vomiting after dinner, fine of 1 lakh on contractor
 

Tejas Express में खाना खाने के बाद यात्रियों को होने लगी उल्टियां, ठेकेदार पर 1 लाख का जुर्माना

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 January 2020, 12:07 IST

हालही में शुरू की गई तेजस एक्प्रेस में बासी खाना परोसने पर कॉन्ट्रैक्टर एक लाख रुपये का जुर्माना लाया गया है. गोवा में करमाली और मुंबई में छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस (CSMT) के बीच तेजस एक्सप्रेस में सवार यात्रियों ने शनिवार को ट्रेन में बासी भोजन परोसे जाने की शिकायत की थी. मुंबई-अहमदाबाद शताब्दी एक्सप्रेस में बासी भोजन परोसे जाने के बाद पिछले हफ्ते के बाद यह दूसरी घटना है. यात्रियों ने अधिकारियों से इस मामले में शिकायत दर्ज की थी, जिसके बाद IRCTC ने कॉन्ट्रैक्टर पर 1 लाख का जुर्माना लगाने की बात कही है.

हिन्दुस्तान टाइम्स के अनुसार शनिवार को जब यात्रियों को महाराष्ट्र के चिपलून रेलवे स्टेशन के बाद ट्रेन में रात का खाना परोसा गया तो उन्होंने शिकायत की कि खाना बासी है. जबकि ऑन-बोर्ड कैटरिंग स्टाफ ने भोजन के पैकेट को बदलने की पेशकश की, यात्रियों ने आरोप लगाया कि भोजन करने के बाद उन्हें उल्टियां हुई. यात्रियों ने यह भी कहा कि उन्हें बार-बार अनुरोध के बावजूद चिकित्सा सहायता प्रदान नहीं की गई.

 

रिपोर्ट के अनुसार कुडाल से ठाणे रेलवे स्टेशन तक यात्रा करने वाले एक व्यक्ति ने कहा कि “हमें रात को जो खाना में परोसा गया था, उसमें हमने देखा कि पुलाव और रोटियों में बदबू आ रही थी. हमने तुरंत ऑन-बोर्ड कर्मचारियों को इसकी सूचना दी. व्यक्ति ने कहा ''मुझे भोजन करने के बाद बेचैनी और उल्टी महसूस हुई. मैंने एक डॉक्टर के लिए अनुरोध किया लेकिन कोई भी आया. आठ यात्री थे जिन्होंने उल्टी की. हम रेलवे प्रशासन के साथ इस मुद्दे को उठाएंगे.”

एक अन्य व्यक्ति ने कहा "भोजन बासी था और कर्मचारियों के सामने इस मुद्दे को उठाए जाने के बावजूद उन्होंने यह बंद नहीं किया गया. कुछ यात्रियों ने रात के खाने के बाद उल्टी कर दी''. IRCTC ने आरोपों का खंडन किया है और कहा कि उल्टी की कोई घटना नहीं हुई है. IRCTC ने कहा ''यह सच है कि पुलाव से बदबू आ रही थी क्योंकि खाना गर्म था. आईआरसीटीसी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि यात्रियों को उल्टी या डॉक्टर के बारे पूछने की कोई घटना नहीं हुई. उन्होने कहा “ठेकेदार को 1 लाख के जुर्माने के साथ कारण बताओ नोटिस दिया जाएगा.

200 से अधिक शिक्षाविदों का PM मोदी को पत्र, कहा-लेफ्ट विंग एक्टिविस्ट बिगाड़ रहे हैं विश्वविद्यालओं का माहौल

First published: 13 January 2020, 12:04 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी