Home » बिज़नेस » Due to Reliance Jio effect mobile data prices in India fell by 48 percent last year
 

Reliance Jio के प्रभाव से मोबाइल डाटा के दामों में आई 48 फीसदी की गिरावट

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 June 2017, 17:06 IST

पिछले वर्ष भारतीय टेलीकॉम बाजार में Reliance Jio के कदम रखने से मोबाइल डाटा के दामों में 48 फीसदी की कमी आई. यह आंकड़े मैरी मीकर की द्वारा जारी किए गए हैं जो क्लीनर पर्किंस इंटरनेट ट्रेंड्स 2017 रिपोर्ट में छापे गए हैं.

एक साल पहले जो टेलीकॉम ऑपरेटर्स मोबाइल यूजर्स से प्रति जीबी डाटा के लिए 3.1 अमेरिकी डॉलर (करीब रुपये) वसूलते थे, उनमें भारी कमी आई और यह दाम 1.9 डॉलर प्रति जीबी तक पहुंच गए. जबकि अगर बात करें 2015 की तो भारत के मोबाइल ऑपरेटर्स प्रति जीबी डाटा के लिए यूजर्स से 3.7 डॉलर प्रति जीबी वसूलते थे.

मीकर द्वारा इस सप्ताह कैलीफोर्निया में यह रिपोर्ट जारी की गई. इसमें बताया गया है कि भारत में 35.50 करोड़ मोबाइल इंटरनेट यूजर्स हैं, जो चीन के बाद दुनिया में दूसरे नंबर पर हैं.

मीकर ने ईशारा किया कि भारत के लोग प्रति सप्ताह औसतन 28 घंटे अपने मोबाइल फोन पर इंटरनेट ब्राउजिंग करते हैं जिनमें करीब 12.5 घंटे वे मनोरंजन की सामग्री पर खर्च करते हैं. बाकी 9.5 घंटे वे सर्चिंग, सोशल मीडिया और मैसेजिंग ऐप्स पर बिताते हैं.

इस रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि स्मार्टफोन के दामों में गिरावट आने के बावजूद अभी भी यह तमाम लोगों के लिए महंगा सौदा या उनकी हैसियत के मुताबिक नहीं है.

रिपोर्ट की मानें तो भारत में माइक्रोमैक्स, लावा और कार्बन जैसे स्थानीय स्मार्टफोन निर्माताओं के साथ ओप्पो, वीवो और शाओमी जैसे चीन के फोन निर्माताओं के आने से उम्मीद की जा रही है कि यह दाम और गिरेंगे.

हालांकि चीन और वैश्विक स्मार्टफोन निर्माता अभी भी इस बात पर खुश है कि वे बाजार के एक बड़े हिस्से पर कब्जा जमाए हुए हैं और 85 फीसदी बाजार उनके कब्जे में है.

इसके अलावा 2016 में भारतीयों ने गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोडिंग के मामले में अमेरिका को भी पीछे छोड़ दिया. सबसे ज्यादा डाउनलोड किए जाने वाले एंड्रॉयड ऐप्स में व्हॉट्सऐप और फेसबुक मैसेंजर जैसे मैसेजिंग ऐप्स शामिल हैं.

इसके बाद शेयरइट, ट्रूकॉलर और फेसबुक जैसे ऐप्स टॉप पांच में शामिल हैं. इसके अलावा हॉटस्टार और जियो टीवी जैसे स्ट्रीमिंग ऐप्स ने आठवीं और नौंवी रैंक हासिल की है.

First published: 1 June 2017, 17:06 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी