Home » बिज़नेस » telecom war : MTNL can reduce two years retirement age
 

करे Jio, Airtel और भरे बेचारे MTNL के कर्मचारी

सुनील रावत | Updated on: 17 April 2018, 17:52 IST

डिजिटल इंडिया  के दौर में भले इंटरनेट देश में सस्ता हो गया हो लेकिन देश की टेलिकॉम इंडस्ट्री अपने सबसे ख़राब दौर से गुजर रही है. निजी टेलिकॉम  कंपनियां या तो अपना कारोबार समेट रही हैं  या बंद कर रही हैं लेकिन इस बुरे वक़्त का सबसे ज्यादा असर सरकरी कंपनियों पर हुआ है. इसी का असर है कि एमटीएनएल अपने कर्मचारियों की रिटायरमेंट की उम्र दो साल कम करने की दिशा में बढ़ रहा है.

घाटे की मार झेल रही एमटीएनएल में रिटायरमेंट की उम्र 60 साल से घटकर 58 साल की जा सकती है. सरकार का मानना है कि रिटायरमेंट की उम्र 2 साल घटाने से कंपनी को सालाना 400 करोड़ रुपये की बचत होगी. हालांकि सरकार ने कंपनी से इस पर राय मांगी है.

MTNL में वर्तमान में कुल 27000 कर्मचारी काम कर रहे हैं जिनमें से 3-4 हजार कर्मचारियों पर ये फैसला लागू होने से असर पड़ेगा.  इससे पहले टेलीकॉम उपकरण बनाने वाली सरकारी कंपनी आईटीआई पर यह फैसला लागू  हो चुका है.

टेलिकॉम सेक्टर का घाटा बढ़ रहा है

डच बैंक का कहना है कि चालू वित्त वर्ष 2018-19 में टेलिकॉम सेक्टर का राजस्व 9 फीसदी घटकर 21.6 अरब डॉलर रह जायेगा क्योंकि रिलायंस जियो के ऑफर को टक्कर देने के लिए अन्य कंपनियां भी लगातार अपने टेरिफ रेट में बदलाव कर रही हैं.

डच बैंक का कहना है कि आइडिया सेल्युलर और वोडाफोन के मर्जर के बाद अगले वित्तीय वर्ष 2019-20 में इसकी राजस्व हिस्सेदारी 37 फीसदी होगी. जबकि भारती एयरटेल रिलायंस जियो की हिस्सेदारी 36 फीसदी और 25 रहेगी.

ये भी पढ़ें : Inside story: बैंकों में कैश की कमी किस बात की आहट है ?

First published: 17 April 2018, 17:36 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी