Home » बिज़नेस » Telecommunications sector to generates 30 lakh jobs by 2018 in india a study said here on Thursday.
 

2018 में 30 लाख लोगों को इस सेक्टर में मिलेगी नौकरी

कैच ब्यूरो | Updated on: 18 August 2017, 10:53 IST

देश में 4जी तकनीक के आने, यूज़र द्वारा ज्यादा डेटा का इस्तेमाल करने, बाज़ार में नई कंपनियों के आने, डिजिटल वॉलेट शुरू होने और स्मार्टफोन की लोकप्रियता में इजाफा होने से टेक्नोलॉजी की मांग में लगातार बढ़ोतरी हो रही है.

जिससे दूरसंचार क्षेत्र में रोजगार के मौके बढ़ रहे हैं और 2018 में इस क्षेत्र में 30 लाख नई नौकरियां पैदा होंगी. एक स्टडी में गुरुवार को यह जानकारी दी गई. उभरती टेक्नोलॉजी 5जी, एम2एम और सूचना और संचार प्रौद्योगिकी (आईसीटी) के विकास की वजह से साल 2021 तक 8,70,000 नई नौकरियां पैदा होंगी. यह जानकारी एसोचैम-केपीएमजी की स्टडी में दी गई है.

इसमें कहा गया, "लोगों के स्किल्स में अंतर को भरने की आवश्यकता है, जिसमें एक तरफ स्किलफुल मानव संसाधन की कमी है, खासकर बुनियादी संरचना और साइबर सुरक्षा विशेषज्ञ, एप्किलेशन डेवलपर, सेल्स एक्जीक्यूटिव, इंफ्रास्ट्रक्चर टेकनीशियन, हैंडसेट टेकनीशियन आदि के क्षेत्र में तो दूसरी तरफ वर्तमान मानव संसाधन के कौशल को दोबारा बढ़ाने की जरूरत है ताकि वे वर्तमान प्रौद्योगिकी की जरुरतों के अनुरूप काम करने में सक्षम हो सके."

दूरसंचार क्षेत्र की मांग और स्किल की जरूरतों को पूरा करने के लिए दूरसंचार क्षेत्र कौशल परिषद की स्थापना की गई है. हालांकि उद्योग की सिफारिश है कि अधिक लक्षित और विशेषीकृत कौशल विकास कार्यक्रम शुरू किए जाने चाहिए, जो वर्तमान मानव संसाधन क्षमताओं और उपलब्धता में इजाफा करे, ताकि इस क्षेत्र का कुल मिलाकर बाधारहित विकास हो सके. 

स्टडी में कहा गया, "टीएसपीज (दूरसंचार सेवा प्रदाताओं) अपने नेटवर्क में लगातार निवेश कर रहे हैं और वर्तमान नेटवर्क अवसंरचना का आधुनिकीकरण कर रहे हैं। इस पर साल 2017 की पहली तिमाही में कुल 85,003 करोड़ रुपये का निवेश किया गया."

First published: 18 August 2017, 10:53 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी