Home » बिज़नेस » The 15 countries with the highest military budgets, china on top
 

ये हैं वो 15 देश, जो अपनी रक्षा पर खर्च करते हैं सबसे ज्यादा पैसे, चीन सबसे ऊपर

कैच ब्यूरो | Updated on: 5 March 2019, 13:21 IST

साल 2018 के मई में स्टॉकहोम इंटरनेशनल इंटरनेशनल साइंटिफिक इंस्टीट्यूट द्वारी जारी एक रिपोर्ट के अनुसार, वैश्विक सैन्य खर्च 2017 से 1.139 ट्रिलियन डॉलर तक पहुंच गया है. एसआईपीआरआई गवर्निंग बोर्ड के अध्यक्ष एंबेसडर जान एलियासन ने कहा, उच्च विश्व सैन्य खर्च लगातार गंभीर चिंता का कारण है. दुनियाभर की देशों का रक्षा पर इतना खर्च भविष्य को चिंतिति करता है. 2017 में फिर से चीन का सैन्य खर्च 2016 से 5.6% बढ़ा है. SIPRI ने बताया कि 1998 के बाद पहली बार रूस के सैन्य खर्च में 20% की कमी आई है.

एसआईपीआरआई के एक शोधकर्ता नेन तिआन ने कहा, "हाल के वर्षों में विश्व सैन्य खर्च में बढ़ोतरी एशिया और ओशिनिया और मध्य पूर्व, जैसे चीन, भारत और सऊदी अरब के देशों द्वारा खर्च में पर्याप्त वृद्धि के कारण हुई है. हालांकि, यूएस का बजट अपरिवर्तित रहा है. चीन की संसद, ने मंगलवार को पेश होने वाले ड्राफ्ट बजट रिपोर्ट के अनुसार, 2019 का रक्षा बजट 1.19 ट्रिलियन युआन (लगभग $ 177.61 बिलियन) कर दिया है.

वहीं इस साल भारत का रक्षा बजट 6.87 प्रतिशत बढ़कर 3.18 ट्रिलियन रुपये हो गया, जो पिछले साल के 2.98 ट्रिलियन था. अन्य देशों की तुलना में, चीन के रक्षा बजट में सकल घरेलू उत्पाद का 1.3 प्रतिशत हिस्सा है, जबकि प्रमुख विकासशील देशों ने अपने बचाव में दो प्रतिशत जीडीपी खर्च किया.

2017 में अधिक खर्च करने वाले 15 देश

टर्की-18.2 बिलियन डॉलर
कनाडा-20.6 बिलियन डॉलर
ऑस्ट्रेलिया- 27.5 बिलियन डॉलर
इटली- 9.2 बिलियन डॉलर
ब्राज़ील- 29.3 बिलियन
साउथ कोरिया-39.2 बिलियन डॉलर
जर्मनी- 44.3 बिलियन डॉलर
जापान- 45.4 बिलियन डॉलर
यूनाइटेड किंगडम- 47.2 बिलियन डॉलर
फ्रांस- 57.8 बिलियन डॉलर
इंडिया-63.9 बिलियन डॉलर
रूस- 66.3 बिलियन डॉलर
सऊदी अरब- 69.4 बिलियन डॉलर
चीन - 228 बिलियन डॉलर

36 राफेल नहीं हैं काफी, अब यूरोफाइटर टाइफून की राह देख रहा है भारत ?

First published: 5 March 2019, 13:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी