Home » बिज़नेस » The fastest growing online dating market in India,how online dating companies are making money
 

भारत बना ऑनलाइन डेटिंग का सबसे बड़ा बाजार, दिल टूटने से खूब पैसा बना रहीं कंपनियां

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 September 2018, 14:20 IST

भारत ऑनलाइन डेटिंग के मामले में दुनिया का सबसे बड़ा बाजार बनने की राह पर है. जिस प्रकार से भारत में युवाओं का रुख ऑनलाइन डेटिंग की तरफ बढ़ रहा है उसको देखते हुए बहुत जल्द भारत इस मामले में सबसे बड़ा बाजार बन जाएगा. 2011 की जणगणना के अनुसार भारत में 8 करोड़ से अधिक लोग अविवाहित हैं, जिन्हें पार्टनर की तलाश है. इसी को देखते हुए कंपनियों को भारत में ऑनलाइन डेटिंग सुविधा उपलब्ध करवाने वाली कंपनियों को भारत में एक बड़ा कारोबार दिखाई दे रहा है. ऑनलाइन डेटिंग कंपनियां 8 करोड़ से अधिक लोग अविवाहित लोगों को उपभोक्ता के रूप में देख रही हैं.

प्रतीकात्मक फोटो

अमेरिका और बाकी पश्चिमी देशों में 2011 से ऑनलाइन डेटिंग का बाजार उफान पर था. टिंडर, ओकेक्यूपिड जैसे स्टार्टअप्स ने अच्छा पैसा कमाया था. इन ऐप्स के जरिए लोगों को दोस्त, पार्टनर, पति-पत्नी भी आसानी से मिले. हालांकि शुरुआत में ऑनलाइन डेटिंग का बाजार भारत में अच्छा नहीं माना जा रहा था. लेकिन धीरे धीरे इसने भारत में अपनी पकड़ मजबूत कर ली है.

भारत में आज टिंडर, ट्रूलीमैडली, आईक्रशआईफ्लश, आय्ल जैसे ऐप्स ने 8 करोड़ से ज्यादा लोगों का बाजार अपने लिए तैयार कर लिया है. ऑनलाइन डेटिंग सुविधा उपलब्ध करवाने वाली कंपनियां अब इस पर अधिक ध्यान दे रही हैं. वह इसके लिए बिजनस मॉडल्स तैयार किए जा रहे हैं.

प्रतीकात्मक फोटो

मार्किट रिसर्चर स्टैटिस्टा की रिपोर्ट के मुताबिक, 2011 की जणगणना के अनुसार भारत में 8 करोड़ से अधिक लोग अविवाहित लोगों में से आधे ऑनलाइन डेटिंग कंपनियों का उपभोक्ता बन चुके हैं. ऑनलाइन डेटिंग कंपनियों ने इनके जरिए 2018 में 1 करोड़ डॉलर से ज्यादा की कमाई की है.

रिपोर्ट में कहा गया है कि आने वाले 4 सालों में इस कमाई में अच्छा इजाफा होने की उम्मीद है. रिपोर्ट के मुताबिक, ऑनलाइन डेटिंग कंपनियों के रेवेन्यू में 10 प्रतिशत से अधिक इजाफे की उम्मीद है. भारत में सबसे प्रचलित ऐप टिंडर से एक महीने का रेवेन्यू 1-2 करोड़ रुपये है. हालांकि ऑलनाइन डेटिंग के बाजार के मामले में अभी भारत काफी पीछे हैं. अमेरिका में ऑनलाइन डेटिंग का बाजार लगभग 60 करोड़ डॉलर है.

प्रतीकात्मक फोटो

जानकारों के अनुसार, आने वाले समय में ऑनलाइन डेटिंग के बाजार में तेजी देखने को मिलेगी. कंपनियां स्थानिय भाषाओं में भी अपने प्रॉडक्ट्स लॉन्च करने की ओर कदम बढ़ाएंगी. इससे ऑनलाइन डेटिंग के बाजार में तेजी आएगी. ऑनलाइन डेटिंग एप्स ट्रूलीमैडली का दावा है कि उनके अधिकतर यूजर्स स्टूडेंट्स, नौकरीपेशा लोग हैं, जो 'टॉप 10' शहरों से आते हैं.

भारत में ऑनलाइन एप्स का इस्तेमाल लड़कियों की तुलना में लड़के ज्यादा करते हैं. इन एप्स का मानना है कि भारतीय भाषाओं में ऐप्स को लॉन्च करके इस संख्या में आसानी से बढ़ोतरी की जा सकती है. उम्मीद है साल 2022 तक इसके बाजार में दुगनी तेजी आ जाएगी.

ये भी पढ़ें- 200 से 300 सीसी की चार बाइक्स पेश करेगा हीरो, कोहली होंगे ब्रांड एंबेसडर

First published: 11 September 2018, 14:20 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी