Home » बिज़नेस » The net increase seen on direct taxes is 13.6% : Finance Minister Arun Jaitley
 

जेटली: नोटबंदी के बाद देश के राजस्व में इज़ाफ़ा, अर्थव्यवस्था को कोई नुकसान नहीं

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 February 2017, 5:47 IST
(एएनआई)

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने गुरुवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में नोटबंदी के फैसले को समर्थन देने के लिए देशवासियों का शुक्रिया अदा करते हुए कहा कि प्रत्यक्ष कर के संग्रह में 13.6 प्रतिशत का इजाफा हुआ है.

पत्रकारों से बातचीत में नोटों की उपलब्धता को लेकर अरुण जेटली ने कहा कि आरबीआई के पास बड़ी मात्रा में नई करेंसी मौजूद है. करेंसी का एक बहुत बड़ा हिस्सा बदला जा चुका है. इसके अलावा 500 के नए नोट भी तेजी से सर्कुलेशन में आ रहे हैं.

केंद्रीय वित्तमंत्री ने बताया कि नोटबंदी के फायदे देश में दिखने लगे हैं जिसके बाद देश का सरकारी खजाना भरा है. राजस्व में बढ़ोतरी हुई है और गुमनाम पैसा बैंकिंग में आया है.

उन्होंने कहा कि नोटबंदी को लेकर आलोचकों की आशंकाएं गलत साबित हुई और इससे अर्थव्यवस्था को कोई नुकसान नहीं हुआ. जीवन बीमा क्षेत्र का कारोबार बढ़ा, पेट्रोलियम उपभोग में वृद्धि. इसी तरह पर्यटन उद्योग और म्युचुअल फंड योजनाओं में निवेश में भी वृद्धि हुई है.

उन्होंने कहा कि रबी फसल की बुआई में बीते साल के मुकाबले 6.3 पर्सेंट का इजाफा हुआ है. जेटली ने नोटबंदी के फैसले की सराहना करते हुए कहा कि टैक्स कलेक्शन के मामले में इसके नतीजे साफतौर पर दिखे हैं. बैंकिंग सेक्टर में अभी इसके बारे में जानकारी सामने नहीं आई है.

वित्तमंत्री ने कहा कि देश में 30 नवंबर तक केंद्रीय अप्रत्यक्ष कर संग्रह में 26.2 फीसदी की वृद्धि हुई है. प्रत्यक्ष कर संग्रह में 19 दिसंबर तक 14.4 फीसदी की वृद्धि हुई है. पिछले वर्ष यह दर 8.3% प्रतिशत थी. टैक्स कलेक्शन में बढ़ोतरी से देश के राजस्व में बढ़ोतरी हुई है. नवंबर 2015 की तुलना में इस बार ज्यादा टैक्स आया है. 

First published: 29 December 2016, 7:26 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी