Home » बिज़नेस » This Diwali Amul to launch fresh ‘deodorised’ camel milk in Ahmedabad
 

अमूल बेचेगा इस दिवाली से ऊंट का दूध, PM मोदी ने दी थी ये खास सलाह

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 October 2018, 12:54 IST

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा ऊंट के दूध के लाभों के बारे में बात करने के कुछ ही दिन बाद अमूल डेयरी ने अब ऊंट का दूध बेचने का फैसला किया है. कंपनी दूध की बोतल को 500 एमएल की बोतलों में पैक किया है. दिसंबर 2018 से अहमदाबाद में ऊंट का दूध बेचा जाएगा. अमूल के मुताबिक डिओडोरिज़ेशन से संबंधित महत्वपूर्ण प्रयोग किए जाने की उम्मीद है जो न केवल ऊंट के दूध से गंध को हटाएगी बल्कि इससे अधिक आकर्षक बनाएगी.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार गुजरात सहकारी दूध विपणन संघ लिमिटेड (जीसीएमएमएफ) के प्रबंध निदेशक आरएस सोढ़ी ने कहा, ''यह देश में पहली बार है कि ऊंट के दूध की मार्केटिंग की जाएगी और इसे बेचा जाएगा''. उन्होंने कहा ''हमारे दूध सहकारी संघों में एक दिसंबर 2018 में कच्छ में एक नई ऊंट दूध प्रसंस्करण इकाई का निर्माण किये जाने की उम्मीद है. एक बार यह तैयार हो जाने के बाद हम ऊंट प्रजनकों से दूध इकट्ठा करना शुरू कर देंगे और अहमदाबाद में इसकी मार्केटिंग शुरू कर देंगे''.

सोढ़ी ने कहा कि भुज के पास ऊंट दूध प्रसंस्करण इकाई में रोजाना लगभग 20,000 लीटर ऊंट दूध की प्रक्रिया करने की क्षमता होगी. वर्तमान में अमूल कच्छ जिला सहकारी दूध उत्पादक संघ लिमिटेड से ऊंट का दूध खरीदता है जो चॉकलेट बनाने के लिए सरहद डेयरी संचालित करता है. लेकिन ताजा ऊंट दूध एक नई सोच है. ऊंट के दूध की बाजार क्षमता के बारे में पूछे जाने पर सोढ़ी ने जवाब दिया, हालांकि इसमें अधिक नमक की मात्रा है, लेकिन इसमें बहुत सारे चिकित्सीय मूल्य हैं.

 

पिछले रविवार को अमूल डेयरी की अपनी यात्रा के दौरान, प्रधानमंत्री मोदी ने दावा किया था कि कई साल पहले यह माना जाता था कि ऊंट के दूध पोषक तत्व हैं लेकिन उनका उपहास किया गया और अब ऊंट के दूध का उपयोग न केवल चॉकलेट बनाने में किया जा रहा था बल्कि किसानों के लिए कीमत को दोगुना कर रहा है.

सरहद डेयरी के अधिकारियों ने कहा कि वर्तमान में गाय दूध प्रति लीटर 28-30 रुपये, जबकि ऊंट का दूध गुजरात में 50-55 रुपये प्रति लीटर बेचा जाता है. गुजरात में दूध सहकारी समिति वर्तमान में कच्छ जिले में ऊंट पैदा करने वाले "मालधर" से प्रति दिन लगभग 1000-1,500 लीटर ऊंट दूध एकत्र करते हैं. ऊंट का दूध नियमित आधार पर नहीं एकत्र किया जाता है और आनंद के पास मोगार में चॉकलेट फैक्ट्री की आवश्यकताओं पर निर्भर करता है.

ये भी पढ़ें : जल्द शुरू हो रहा है भारत में 5G ट्रायल, मोदी सरकार चुन सकती है चीन की इस कंपनी को

First published: 6 October 2018, 12:52 IST
 
अगली कहानी