Home » बिज़नेस » This software will decide increase in your salary not your boss
 

अब बॉस नहीं ये सॉफ्टवेयर तय करेगा आपको मिलनी चाहिए कितनी सैलरी

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 July 2018, 15:36 IST

कोई जरुरी नहीं है कि आपका अापके बॉस के साथ तालमेल ठीक-ठाक बैठता हो. ऐसे में दुनिया की जानी मानी आईटी कंपनी आईबीएम एक साॅफ्टवेयर का इस्तेमाल करने जा रही है. जो कंपनी में काम कर रहे कर्मचारियों के प्रफार्मेंस को मापेगी और यह बताएगी की उसे कितनी सैलरी मिलनी चाहिए.

ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट के मुताबिक, आर्इबीएम इसके लिए वॉटसन एनालिटिक्स नाम की कंपनी की मदद ले रहा है. जो पहले से ही आर्इबीएम के इंप्लार्इ को इंटरनल ट्रेनिंग दे रहा है. आर्इबीएम के द्वारा तैयार किए जा रहे इस नए साॅफ्टवेयर के तहत आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की मदद से पता लगाया जाएगा कि किस इंप्लार्इ ने कैसा काम किया है. आईबीएम ने दावा किया है कि इंटरनल एचआर की रिपोर्ट के मुकाबले वॉटसन 96 फीसदी सटीक जानकारी देता है.

कंपनी के मुताबिक वॉटसन कर्मचारियों के अनुभव को देखता है. साथ ही यह अनुमान लगाता है कि भविष्य में वो अपने संभावित क्षमताओं और हुनर को आईबीएम में काम करने में कितना अधिक विकसित कर सकता है. वॉटसन बारीकी से आईबीएम के इंटरनल ट्रेनिंग सिस्टम का भी अध्ययन करेगी और यह पता लगाएगी कि कोई कर्मचारी कितनी जल्दी कोई नई चीज सीख रहा है. इसके बाद कंपनी के मैनेजर वॉटसन की रेटिंग के अनुसार कर्मचारियों के प्रमोशन, बोनस और वेतन के बारे में फैसला लेंगे.

ये भी पढ़ें-कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, अब इन मौकों पर भी निकाल सकते हैं PF का पैसा

 

गौरतलब है कि भारत में अभी तक ऐसी कोई कंपनी जो इस तरह के सिस्टम पर काम नहीं कर रही है. हालांकि देखने वाली बात यह होगी कि आर्इबीएम में यह साॅफ्टवेयर कितना सफल होता है.

ये भी पढ़ें-टेलिकॉम के बाद अब Amazon-Flipkart को पछाड़ने के लिए रिलायंस ने बनाई योजना

First published: 10 July 2018, 15:36 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी