Home » बिज़नेस » Tiktok reaction on App ban in india, said- talks are going on with the government
 

बैन करने पर आयी Tiktok की ओर से प्रतिक्रिया, कहा- चीनी सरकार से नहीं करते डेटा शेयर

कैच ब्यूरो | Updated on: 30 June 2020, 13:10 IST

भारत ने 59 चीनी कंपनियों के ऐप्स को बैन कर दिया है. इन ऐप्स में एक टिकटॉक (Tiktok) की प्रतिक्रिया सामने आयी है. टिकटॉक का कहना है कि वह इस मामले में सरकार से बात कर रहे हैं. कंपनी के इंडिया हेड निखिल गांधी ने ट्विटर पर एक बयान में कहा चीनी शार्ट वीडियो प्लेटफॉर्म टिकटॉक को भारत सरकार से मिलने और स्पष्टीकरण प्रस्तुत करने के लिए एक अवसर दिया गया है.

गांधी ने दावा किया कि कंपनी भारतीय कानून के तहत सभी डेटा प्राइवेसी और सुरक्षा आवश्यकताओं का पालन कर रही है और इसे किसी भी दूसरे देश की सरकार से शेयर नहीं कर रही है. गांधी ने कहा वह यूजर्स के डेटा को चीन के साथ भी शेयर नहीं करती है. हालांकि उन्होंने यह स्पष्ट नहीं किया कि सरकार के साथ उनकी मीटिंग कब होगी. 


उन्होंने कहा हम यूजर की प्राइवेसी और इंटेग्रेटी पर सबसे अधिक महत्व देते हैं. Bytedance के स्वामित्व वाले हेलो और टिकटॉक को गूगल प्ले स्टोर और एप्पल स्टोर से भी हटा दिया गया है. इस सूचि में Bytedance का विगो वीडियो भी शामिल है, हालांकि कंपनी पहले ही इसे बंद करने की प्रक्रिया में थी. कंपनी ने 15 जून को घोषणा की है कि विगो उपयोगकर्ताओं को टिकटॉक में परिवर्तित किया जाएगा और ऐप मौजूद नहीं रहेगा. फिलहाल वीबो वीडियो अभी भी ऐप स्टोर पर उपलब्ध है.

सरकार ने जिन ऐप्स को बैन किया है उनमें अलीबाबा ग्रुप का यूसी ब्राउज़र और यूसी न्यूज़, बिगो टेक्नोलॉजीज का लाइक, श्याओमी का एमआई कम्युनिटी जैसे ऐप शामिल हैं. कानून, इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री, रविशंकर प्रसाद ने कहा कि सरकार ने भारत की सेफ्टी, सिक्योरिटी, संप्रभुता और अखंडता के लिए इन चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगा दिया है. एक रिपोर्ट के अनुसार आईटी मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि इस बैन के पीछे सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम की धारा 69 ए के तहत सार्वजनिक व्यवस्था की सुरक्षा के उल्लंघन, खतरे और डेटा लीक को रोकना है.

 
First published: 30 June 2020, 12:15 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी