Home » बिज़नेस » Trai chairman R S Sharma gets two-year extension as as a Trai chairman
 

आधार सुरक्षा पर चुनौती देने वाले TRAI चेयरमैन आरएस शर्मा को मिला दो साल का एक्सटेंशन

कैच ब्यूरो | Updated on: 10 August 2018, 11:54 IST

एक आश्चर्यजनक कदम में कैबिनेट की अपॉइंटमेंट कमेटी (एसीसी) ने भारत के दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (ट्राई) के अष्यक्ष आर एस शर्मा के कार्यकाल को विस्तार दे दिया है. यह पहली बार है कि किसी भी ट्राई चीफ को तीन साल के कार्यकाल में विस्तार मिला है. शर्मा को गुरुवार सेवानिवृत्त होना था लेकिन अब 30 सितंबर 2020 तक अध्यक्ष बने रहेंगे.

एसीसी ने 10 अगस्त 2018 से 30 सितंबर 2020 तक आगे की अवधि के लिए राम सेवक शर्मा के ट्राई अध्यक्ष के रूप में फिर से नियुक्ति को मंजूरी दी. शर्मा के कार्यकाल के दौरान दूरसंचार उद्योग को गंभीर वित्तीय तनाव का सामना करना पड़ा. शर्मा ने हाल ही में आधार की सुरक्षा को लेकर ट्विटर पर चुनौती दी थी.

उन्होंने माइक्रो-ब्लॉगिंग साइट पर अपना आधार नंबर शेयर कर निजी जानकारी पता कर नुकसान पहुंचाने की चुनौती दी थी. इसके बाद भारत की विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) को कहना पड़ा था कि लोग सार्वजनिक डोमेन में आधार विवरण न दें. झारखंड कैडर के 1978 बैच (सेवानिवृत्त) आईएएस अधिकारी शर्मा ने जुलाई 2015 में ट्राई प्रमुख के रूप में पदभार संभाला था. पिछले तीन सालों के दौरान ट्राई नेट न्यूट्रेलिटी और डेटा गोपनीयता समेत कई विषयों पर कई सिफारिशों को पेश किया. पिछले हफ्ते दूरसंचार निगरानीकर्ता ने 5जी में स्पेक्ट्रम नीलामी पर सिफारिशें जारी कीं.

शर्मा के कार्यकाल के दौरान दूरसंचार क्षेत्र में रिलायंस जियो कारण टेरिफ वॉर भी शुरू हुआ. जिससे उद्योग को गंभीर वित्तीय तनाव का सामना करना पड़ा. कुछ प्रमुख दूरसंचार ऑपरेटरों ने समय-समय पर दावा किया है कि कुछ ट्राई नियमों ने रिलायंस जियो की मदद की है. हालांकि शर्मा ने उन आरोपों से इंकार किया.

ये भी पढ़ें : भूषण स्टील के पूर्व प्रमोटर 2000 करोड़ की धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार

First published: 10 August 2018, 11:51 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी