Home » बिज़नेस » Twitter ceo jack dorseys got Relief from Rajasthan high court, Stay order on arresting but refuses to quash fir
 

Twitter के सीईओ की गिरफ्तारी पर लगी रोक, ब्राह्मणों के सम्मान को ठेस पहुंचाने का आरोप

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 December 2018, 12:12 IST

प्रतिष्ठित सोशल मीडिया प्लेटफार्म ट्वीटर के सीईओ जैक डोर्सी की गिरफ़्तारी पर राजस्थान हाई कोर्ट ने रोक लगा दी है. हालांकि अदालत ने प्राथमिकी (FIR) को रद्द करने से इनकार कर दिया जिसमें डोर्सी पर ब्राह्मण समाज की कथित मानहानि का आरोप लगाया गया है. डोर्सी के तरफ से मुक़दमे की पैरवी कर रहे वरिष्ठ वकील महेश जेठमलानी और संदीप कपूर उनके खिलाफ चल रही जांच रोकने और एफआईआर रद्द करने के लिये याचिका दायर की थी.

 


सोशल मीडिया पर मचा था बबाल

ब्राह्मणों के सम्मान को ठेस पहुंचाने के आरोप में विप्रा फाउंडेशन के सदस्य राजकुमार शर्मा कोर्ट में याचिका दायर की थी. राजकुमार शर्मा ने उस तस्वीर पर आपत्ति जताई थी जिसमें जैक डोर्सी एक पोस्टर हाथ में थामे थे जिसमें कथित रूप से ब्राह्मणों पर अभद्र टिपण्णी करने का आरोप लगाया गया है. दरअसल ट्विटर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) जैक डोर्सी की तस्वीर पिछले दिनों सोशल मीडिया पर खासी विवादों में रही थी.

इस विवादस्पद तस्वीर में डोर्सी कुछ महिलाओं के साथ हाथ में एक पोस्टर लेकर खड़े हैं जिस पर लिखा था ‘स्मैश ब्राह्मिकल पैट्रिआर्की’ यानी ब्राह्मणवादी पितृसत्ता वर्चस्व को तोड़ो. इस तस्वीर के सामने आने के बाद उनकी काफी आलोचना हुई और कई लोगों ने अपनी नाराजगी जताई थी. सोशल मीडिया के कुछ यूजर्ज ने डोर्सी पर ब्राह्मणों के खिलाफ घृणा फैलाने और नफरत को संस्थागत स्वरूप देने का आरोप लगाया था. हालांकि डोर्सी ने इसके लिए खेद प्रकट करते हुए खा था मेरी मंशा किसी की भावना को ठेस पहुंचाना नहीं थी.

बासनी पुलिस थाने में FIR दर्ज

याचिकाकर्ता राजकुमार शर्मा के वकील  ने कहा कि न्यायधीश पीएस भाटी ने अपील को ठुकरा दिया लेकिन गिरफ्तारी पर रोक लगा दी. सुनवाई के दौरान डोर्सी के वकील ने अदालत को बताया कि उनके खिलाफ ऐसा कोई मामला नहीं है क्योंकि उन्होंने समुदाय के बीच नफरत फैलाने जैसा कुछ नहीं किया है. एक अदालत ने 1 दिसंबर को ट्विटर के सीईओ के खिलाफ मामला दर्ज करने का निर्देश दिया था जिसके बाद बासनी पुलिस थाने में मामला दर्ज किया गया.

First published: 13 December 2018, 12:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी