Home » बिज़नेस » Two Wheeler Insurance Consider These Things, know detail Before Buying
 

अगर आपके पास है टू-व्हीलर तो इन बातों का रखें ख्याल वरना होगा बड़ा नुकसान

कैच ब्यूरो | Updated on: 13 February 2019, 13:12 IST

हमारे देश में छोटी दूरी की यात्रा करने के लिए सबसे लोकप्रिय साधन टू-व्हीलर / बाइक है. कम खर्च में सुविधापूर्ण तरीके से यातायात के कारण आम लोगों खासकर माध्यम वर्ग के लिए यह सबसे उपयुक्त वाहन है. रिपोर्ट के मुताबिक, भारत में प्रतिदिन 54000 दोपहिया वाहन बेचे जाते हैं. सुविधा के साथ बाइक चलाने में जोखिम भी होते हैं, सड़कों पर भीड़-भाड़ और ट्रैफिक नियमों का पालन नहीं करने के वजह से अक्सर दुर्धटना का खतरा भी होता है. इसलिए सुरक्षा के लिहाज से आपको एक टू-व्हीलर कॉम्प्रिहेन्सिव इंश्योरेंस कवर ज़रूर लेना चाहिए.

टू-व्हीलर इंश्योरेंस आसानी से ऑनलाइन भी खरीदा जा सकता है और यह आपकी गाड़ी को किसी भी प्रकार के डैमेज से होने वाले आर्थिक नुकसान के लिए पर्याप्त सुरक्षा प्रदान करता है. लेकिन टू-व्हीलर इंश्योरेंस खरीदते समय कुछ बातों ध्यान में रखना ज़रूरी है.

आमतौर पर बाजार में दो अलग-अलग प्रकार के टू-व्हीलर इंश्योरेंस प्लान उपलब्ध हैं. एक थर्ड पार्टी पॉलिसी जबकि दूसरी कॉम्प्रिहेन्सिव इंश्योरेंस पॉलिसी है. थर्ड पार्टी पॉलिसी का प्रीमियम, कॉम्प्रिहेन्सिव पॉलिसी के प्रीमियम से काफी कम होता है क्योंकि थर्ड पार्टी इंश्योरेंस में बेहद सीमित कवरेज प्रदान की जाती है.

एक थर्ड पार्टी पॉलिसी में किसी दुर्घटना में सिर्फ एक तीसरे व्यक्ति एवं संपत्ति को हुए नुकसान के लिए कवरेज दी जाती है लेकिन इसमें पॉलिसीधारक की बाइक को होने वाले नुकसान के लिए मुआवजा नहीं दिया जाता है. जबकि कॉम्प्रिहेन्सिव पॉलिसी में पूरी कवरेज मिलती है. थर्ड पार्टी पॉलिसी और एक कॉम्प्रिहेन्सिव पॉलिसी के बीच का अंतर पिछले कुछ सालों में काफी कम हो गया है और अधिक से अधिक लोग अपने दोपहिया वाहनों के लिए एक कॉम्प्रिहेन्सिव पॉलिसी लेने लगे हैं.

First published: 13 February 2019, 13:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी