Home » बिज़नेस » Unhappy over 100% FDI in mining, coal workers to strike on 24 Sep
 

100 फीसदी एफडीआई के विरोध में 24 सितम्बर को कोयला मजदूर संघ हड़ताल पर

कैच ब्यूरो | Updated on: 6 September 2019, 17:05 IST

सिंगरेनी कोलियरीज कंपनी लिमिटेड और राज्य के स्वामित्व वाली कोयला कंपनियों के साथ कोल इंडिया लिमिटेड के आधे से अधिक श्रमिकों का प्रतिनिधित्व करने वाले पांच संघों ने 24 सितंबर को हड़ताल का आह्वान किया है. एक रिपोर्ट के अनुसार संघों की मांग है कि केंद्र सरकार 100 प्रतिशत एफडीआई को मंजूरी देने के अपने फैसले को वापस ले.

एफडीआई सुधारों के एक नए दौर में केंद्र सरकार ने आर्थिक विकास को बढ़ावा देने के अपने प्रयासों के तहत कोयला खनन और अनुबंध निर्माण में 100 प्रतिशत प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) की अनुमति दी है.

प्रमुख केंद्रीय ट्रेड यूनियन हड़ताल का समर्थन कर रहे हैं. ऑल इंडिया कोल वर्कर्स फेडरेशन के महासचिव डी. डी. रामानंदन ने पीटीआई को बताया "आरएसएस से जुड़े भारतीय मजदूर संघ (बीएमएस) को छोड़कर सभी ट्रेड यूनियन 24 सितंबर को हड़ताल के आह्वान में शामिल हो गए हैं''.

केंद्र को एक नोटिस में महासंघों ने यह भी मांग की है कि CIL सहायक कंपनियों, जिसमें ईस्टर्न कोलफील्ड्स लिमिटेड सेंट्रल कोलफील्ड्स लिमिटेड और महानदी कोलफील्ड्स लिमिटेड शामिल हैं, को मूल कंपनी के साथ विलय कर दिया जाए. ट्रेड यूनियनों ने उनकी मांगों को पूरा नहीं करने पर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने की धमकी दी है.

मोदी सरकार ने देश की तीन बड़ी बीमा कंपनियों में डालेगी 12,000 करोड़ रुपये

First published: 6 September 2019, 17:05 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी