Home » बिज़नेस » Union Budget 2020: FM Nirmala Sitharaman says Online Degree Course for underprivileged Students
 

Budget 2020: शिक्षा से वंचित रह गए छात्रों के लिए शुरु होगा ऑनलाइन डिग्री पाठ्यक्रम, वित्त मंत्री ने की घोषणा

कैच ब्यूरो | Updated on: 1 February 2020, 17:12 IST

Union Budget 2020: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने शनिवार (Saturday) को बजट (Budget) पेश करते हुए देश के शीर्ष 100 शैक्षणिक संस्थान (Educational Institutes) में ऑनलाइन डिग्री कार्यक्रम (Online Degree Programme) शुरु करने की घोषणा की. इस ऑनलाइन पाठ्यक्रम को उन छात्रों के लिए शुरु किया जाएगा जो आर्थिक तंगी (Economical Crisis) के चलते अपनी डिग्री पूरी नहीं कर पाए होंगे या अपनी पढ़ाई जारी नहीं कर पाए होंगे.

इससे उन्हें उच्च शिक्षा (Higher Education) मिलेगी. वित्त मंत्री सीतारमण ने संसद में वित्त वर्ष 2020-2021 के लिए बजट पेश किया. इस दौरान वित्त मंत्री ने कहा कि जल्द ही नई शिक्षा नीति की घोषणा की जाएगी. उन्होंने कहा कि सरकार अगले वित्त वर्ष (Financial Year) में शिक्षा क्षेत्र (Education Sector) के लिए 99,300 करोड़ रुपये और कौशल विकास के लिए 3,000 करोड़ रुपये आवंटित करने का प्रस्ताव रखती है.


निर्मला सीतारमण ने घोषणा की कि शिक्षकों, नर्सों, पराचिकित्सा कर्मी और सेवा प्रदाताओं के कौशल में सुधार और अनुरूपता लाने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय, कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय, पेशेवर निकायों के साथ मिलकर विशेष प्रशिक्षण पाठ्यक्रम शुरू करेंगे. इसके लिए भारत उच्च शिक्षा के लिए पसंदीदा स्थल होना चाहिए.

उन्होंने कहा कि, 'भारत में अध्ययन कार्यक्रम के तहत एशियाई और अफ्रीकी देशों में एक आईएनडी-एसएटी परीक्षा का प्रस्ताव रखा गया है ताकि भारतीय उच्च शैक्षणिक केंद्रों में पढ़ने के लिए छात्रवृत्ति पाने वाले विदेशी उम्मीदवारों के लिए मानक तय किया जा सके. वित्त मंत्री ने कहा कि, "राज्यों के शिक्षा मंत्रियों, सांसदों और अन्य हितधारकों के साथ शिक्षा नीति पर वार्ता हुई है. दो लाख से अधिक सुझाव मिले हैं. जल्द ही नई शिक्षा नीति की घोषणा की जाएगी. उन्होंने कहा कि शिक्षा क्षेत्र में बाह्य वाणिज्यिक उधारी और प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) आकर्षित करने के लिए कदम उठाए जाएंगे."

 

वहीं उन्होंने कहा कि विज्ञान या तकनीक संबंधी विषयों की पढ़ाई करने वालों की तुलना में सामान्य विषयों के छात्रों के लिए रोजगार के अवसर सुधारे जाने की आवश्यकता है. उन्होंने कहा कि सरकार युवा इंजीनियरों को इंटर्नशिप का अवसर देने के उद्देश्य से शहरी स्थानीय निकायों के लिए एक कार्यक्रम शुरू करने की योजना बना रही है.

इसके साथ ही वित्त मंत्री ने अपने बजट भाषण के दौरान कहा कि उन छात्रों के लिए डिग्री स्तर का एक ऑनलाइन शिक्षण कार्यक्रम आरंभ करने का प्रस्ताव रखा जाएगा. जो समाज के वंचित तबके से संबंध रखते हैं. उन्होंने कहा कि जिनकी उच्च शिक्षा तक पहुंच नहीं है. उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय संस्थाओं की रैंकिंग में शीर्ष 100 संस्थान ही ये कार्यक्रम उपलब्ध कराएंगे और शुरुआत में कुछ ही संस्थानों को ऐसे कार्यक्रम उपलब्ध कराने को कहा जाएगा.

IndiGo एयरलाइंस को कुणाल कामरा ने भेजा कानूनी नोटिस, 25 लाख की मुआवजे की मांग

Budget 2020: निर्मला सीतारमण ने पढ़ा इतिहास का सबसे लंबा बजट भाषण, फिर भी नहीं कर सकीं पूरा

दिल्ली की सर्दी के बीच संसद भवन में सिल्क की साड़ी में नजर आईं हेमा मालिनी, इस अंदाज में दिखें बाकी के बॉलीवुड के ये सितारे

First published: 1 February 2020, 17:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी