Home » बिज़नेस » us based global rating agancy fitch keeps indias ratings at bbb for eleven years
 

'फिच' ने एक बार फिर नहीं बदली भारत की रेटिंग

कैच ब्यूरो | Updated on: 3 May 2017, 16:08 IST

अमेरिका की ग्लोबल रेटिंग एजेंसी फिच ने इस साल भी भारत की रेटिंग में कोई बदलाव नहीं किया है. फिच ने सरकारी खजाने की कमजोर स्थिति का हवाला देते हुए भारत के लिए अपनी सरकारी रेटिंग बीबीबी- पर ही रखने का फैसला किया है. 

वर्तमान रेटिंग का स्तर निवेश कोटि में सबसे नीचे है और इस अमेरिकी एजेंसी ने भारत को यह एजेंसी लगभग एक दशक पहले दी थी और तब से इसमें कोई बदलाव नहीं किया है. एजेंसी का अनुमान कि भारत की आर्थिक वृद्धि दर वित्त वर्ष 2017 और 2018 में बढ़कर 7.7 प्रतिशत हो जाएगी जो कि वित्त वर्ष 2016 में 7.1 प्रतिशत रही थी.

फिच का कहना है कि कमजोर वित्तीय स्थिति तथा कठिन कारोबारी माहौल को देखते हुए उसने भारत की सरकारी रेटिंग को अपरवर्तित रखा है. भारत को दी गई बीबीबी- की रेटिंग निवेश वर्ग की सबसे निम्न कोटि की साख है. 

भारत में सरकार और अनेक विश्लेषक वैश्विक एजेंसियों द्वारा दी जाने वाली रेटिंग पर सवाल उठाते रहे हैं और उनका तर्क है कि बीते कुछ वर्षों में देश की आर्थिक बुनियाद में महत्वपूर्ण बदलाव हुआ है लेकिन रेटिंग एजेंसियां इस पर जैसे ध्यान ही नहीं दे रही हैं.

फिच ने इससे पहले भारत की सरकारी रेटिंग को एक अगस्त 2006 में बीबी प्लस से बीबीबी- (स्थिर परिदृश्य के साथ) किया था. बाद में 2012 में उसने इसे बदलकर नकारात्मक किया और उसके अगले साथ स्थिर परिदृश्य वाला कर दिया.

First published: 3 May 2017, 16:08 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी