Home » बिज़नेस » US has serious concerns about India’s plans to buy the S-400 air defence system from Russia
 

अमेरिका हुआ भारत से खफा, कहा- रूस से S-400 खरीदा तो नहीं देंगे मानवरहित ड्रोन

कैच ब्यूरो | Updated on: 29 May 2018, 14:30 IST

अमेरिकी सशस्त्र सेवा समिति का कहना है कि अमेरिका को रूस से एस-400 वायु रक्षा प्रणाली खरीदने की भारत की योजनाओं के बारे में गंभीर चिंताएं हैं क्योंकि इससे दोनों देशों के सेनाओं के साथ काम करने की क्षमता पर असर पड़ेगा. एस-400 की भारत की संभावित खरीद के बारे में चिंताओं को सरकार के विभिन्न स्तरों के बारे में बताया गया है.

एनडीटीवी की रिपोर्ट के अनुसार अमेरिका ने यह संकेत दिया है कि उनके देश ने भारत को आर्म्ड ड्रोन MQ-9 और अन्य उच्च तकनीक वाले उपकरण बेचने का प्रस्ताव दिया है और ऐसे में भारत अगर रूस से S-400 खरीदेगा तो इसका दिनों देशों के संबंधों पर असर पड़ेगा.

इस मामले में एक इंटरव्यू में हाउस आर्म्ड सर्विस कमिटी के चेयरमैन विलियम थॉर्नबेरी साफ संकेत दिया कि वह भारत को काफी अहम रणनीतिक साझेदार मानते हैं लेकिन अगर वह भी देश रूस से सैन्य उपकरण खरीदता है तो अमेरिका अपने अत्याधुनिक सैन्य उपकरण भारत को देना सीमित कर देगा.

थॉर्नबेरी ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि भारत 'अपना समय लेगा' और सोच समझकर इस सिस्टम को खरीदने पर विचार करेगा. गौरतलब है कि भारत 39,000 करोड़ रुपये में रूस से वायु रक्षा प्रणाली हासिल करने के रास्ते पर है.

पिछले महीने अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प ने भारत को सशस्त्र, मानव रहित ड्रोन के निर्यात को मंजूरी दे दी थी. थॉर्नबेरी ने कहा कि रूस से भारत के रक्षा सौदे के बाद अमेरिका से मिलने वाले मानव रहित ड्रोन पर संकट के बादल हैं.

ये भी पढ़ें : पेट्रोल-डीजल की तुलना इंटरनेट डेटा से करने वालों को यह भी समझना होगा ?

First published: 29 May 2018, 14:27 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी