Home » बिज़नेस » Used car market size can be ₹50, 000 crore by 2022: Mahindra First Choice
 

सेकंड-हैंड कारों में दिखा रहे लोग दिलचस्पी, बाजार जा सकता है 50,000 करोड़ के पार

कैच ब्यूरो | Updated on: 7 May 2019, 11:22 IST

महिंद्रा फर्स्ट चॉइस व्हील्स लिमिटेड द्वारा जारी एक सेक्टर आउटलुक के अनुसार भारत में सेकंड-हैंड कारों का बाजार 2022 तक 50, 000 करोड़ के बीच हो सकता है. रिपोर्ट के अनुसार संगठित चैनलों से खरीद की हिस्सेदारी लगभग 30% होगी, जबकि असंगठित चैनलों की हिस्सेदारी 40% और पिछले मालिकों से खरीदारी का हिस्सा 30 फीदी है.

इस्तेमाल की गई कारों का बाजार वित्त वर्ष 19 में 4-मिलियन-यूनिट के निशान को छू लिया, जो नई कार बाजार का 1.2 गुना है. इस्तेमाल की गई कार सेगमेंट को पहली बार 2016 में नोटबंदी से झटका लगा था क्योंकि नोटबंदी से कैश सर्कुलेशन बंद हो गया था.


 

यह बाजार ज्यादातर कैश पर निर्भर है. हालांकि जीएसटी लागू होने के बाद सरकार ने इन कारों पर टैक्स लगा दिया. 2018 में जीएसटी परिषद ने इस्तेमाल की गई कारों पर लगाए गए करों को घटाकर 18% से 12% कर दिया. बाजार में बिकने वाली पुरानी कारों में 17% फाइनांस किया जाता है जबकि शेष लेनदेन नकद में होता है. नए कार सेगमेंट में लगभग 85% खरीदारी वित्तपोषित है.

ATM ट्रांजेक्शन फेल होने पर अब बैंक देगी ग्राहकों को जुर्माना

First published: 7 May 2019, 11:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी