Home » बिज़नेस » Vedanta told staff of Tuticorin Plant - Come to work from Monday
 

वेदांता ने तूतीकोरिन प्लांट के कर्मचारियों से कहा- सोमवार से काम पर आएं

कैच ब्यूरो | Updated on: 16 July 2018, 12:20 IST

राज्य सरकार द्वारा थूथुकुड़ी में वेदांता समूह के स्टरलाइट कॉपर प्लांट को सील करने के 45 दिनों के बाद रविवार को वेदांता ने अपने थूथुकुडी स्टरलाइट कॉपर प्लांट में काम कर रहे सभी कर्मचारियों को निर्देश दिया है कि वह सोमवार से काम पर वापस आ जाएं. मई के बड़े विरोध प्रदर्शन के बाद तमिलनाडु सरकार ने संयंत्र बंद कर दिया था. इस विरोध के दौरान 13 लोगों की मौत हो गई थी.

द हिंदू की रिपोर्ट के अनुसार स्टरलाइट कर्मचारियों को भेजे गए एक आंतरिक ईमेल में कहा गया है कि कंपनी के वाहन उन्हें थूथुकुडी में उनके रेजिडेंस से रिसीव करेगी और और उन्हें वापस छोड़ भी देगी. रिपोर्ट के अनुसार प्लांट में अटेंडेंस के लिए बॉयोमीट्रिक मशीनें स्थापित की गई हैं.

स्टरलाइट कॉपर के मुख्य कार्यकारी अधिकारी पी रामनाथ ने कर्मचारियों से कहा '' वेदांता के चेयरमैन अनिल अग्रवाल इस समय स्टरलाइट कॉपर के लिए एक नया दृष्टिकोण अपनाना चाहते हैं. खरीद, रसद, उत्पादन प्रक्रिया, वाणिज्यिक, विपणन, हाउसकीपिंग, व्यापार उत्कृष्टता, कॉर्पोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व, जनता पर ध्यान केंद्रित करने संबंधी, वित्त, सूचना प्रौद्योगिकी, रखरखाव आदि पर आप सभी को काम करना है."

स्टरलाइट कॉपर के प्रवक्ता एम एस्ककीप्पन ने कहा कि यह कदम यह सुनिश्चित करने के लिए है ताकि कर्मचारियों को लंबे समय तक निष्क्रिय नहीं जाए. उन्होंने कहा, "कंपनी वर्तमान में कोई काम नहीं होने के बावजूद उन्हें भुगतान कर रही है." "प्रबंधन भविष्य के कार्यवाही पर चर्चा करेगा. क्वार्टर के भीतर क्लबहाउस में सभी गतिविधियां होंगी."

वेदांता ने अपने आउटरीच को बढ़ाने के लिए "ट्विटर रिस्पॉन्स फोर्स" की स्थापना की है. रिपोर्ट के अनुसार कंपनी के एक प्रवक्ता ने कहा कि उसके कर्मचारी संयंत्र को लेकर अफवाहों को दूर करने के लिए ट्विटर पर सक्रिय थे. हालांकि, पर्यावरण कार्यकर्ता नित्यानंद जयरामन ने इस पर विवाद खड़ा किया. उन्होंने अख़बार हिंदू से कहा, "अब तक लगभग 300 ट्विटर हैंडल की पहचान की गई है. उनका लक्ष्य ट्विटर पर 'स्टरलाइट' को ट्रेंडिंग के जरिये फिर से खोलना है.

ये भी पढ़ें : स्विस बैंक में इन छह भारतीय निष्क्रिय खाताधारकों के हैं 300 करोड़, नहीं आ रहा है कोई सामने

First published: 16 July 2018, 12:12 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी