Home » बिज़नेस » vedanta Tuticorin plant shutdown to affect over 800 SMEs
 

वेदांता के तूतीकोरिन प्लांट के बंद होने से 800 कंपनियों का कारोबार पड़ सकता है ठप

कैच ब्यूरो | Updated on: 11 June 2018, 11:07 IST

तमिलनाडु के तूतीकोरिन में वेदांता के प्लांट के बंद होने से 800 से ज्यादा छोटे-बड़े उद्योगों पर सीधा असर पड़ने की उम्मीद है. बीते माह 29 मई को तमिलनाडु सरकार ने 4 लाख टन सालाना (एलटीपीए) वाले कॉपर स्मेल्टर प्लांट को तत्काल प्रभाव से बंद करने का आदेश दिया था. स्थानीय लोगों का आरोप था कि इस प्लांट से प्रदूषण फैल रहा है और इसके विरोध में बड़े स्तर पर विरोध प्रदर्शन किये गए थे. इसके दौरान हिंसा में 13 लोगों की पुलिस फायरिंग में मौत हो गई थी.

इकोनॉमिक्स टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार इस प्लांट को बंद करने से देश में कॉपर उत्पादन बड़ा असर पड़ने वाला है क्योंकि वित्त वर्ष 2017-18 में देश में कुल 842,961 टन कॉपर उत्पादन में से 48 पर्सेंट हिस्सा वेदांता का था. रिपोर्ट के अनुसार तूतीकोरिन प्लांट बंद करने से इलेक्ट्रिकल्स क्षेत्र की 800 छोटी और मध्यम कंपनियों पर असर पड़ेगा. जबकि इससे देश के डिफेंस सेक्टर, इंफ्रॉस्ट्रक्चर, सीमेंट और फर्टिलाइजर सेक्टर भी प्रभावित होंगे.

भारत की कॉपर इंडस्ट्री प्रति वर्ष लगभग 10 लाख टन रिफाइंड तांबे का उत्पादन करती है. इस उत्पादन का लगभग 40 प्रतिशत मुख्य रूप से चीन निर्यात किया जाता है. 2016-17 में कॉपर की कुल बिक्री का 41 प्रतिशत योगदान स्टरलाइट कॉपर का रहा.

सूत्रों की मानें तो तूतीकोरिन प्लांट के बंद होने से 50,000 से ज्यादा नौकरियां जा सकती हैं. इस प्लांट को चलाने वाली कंपनी वेदांता का कहना है कि ''स्टरलाइट कॉपर प्लांट का बंद होना एक दुर्भाग्यपूर्ण है, हमने 22 वर्षों से अधिक पारदर्शी और टिकाऊ तरीके से संयंत्र का संचालन किया जो तूतीकोरिन और राज्य के सामाजिक-आर्थिक विकास में योगदान देता है.''

वेदांता लिमिटेड ने सोमवार को एक बयान में कहा कि हम इस आदेश का अध्ययन करेंगे और भविष्य में कार्यवाही के बारे में फैसला करेंगे. इस साल 3 मई को, वेदांता रिसोर्सेज के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) कुलदीप कौर ने एक सम्मेलन के दौरान कहा "कॉपर इंडिया बिजनेस ने इस साल 4,03,000 टन उत्पादन (2017-18) दर्ज किया है.

ये भी पढ़ें : तूतीकोरिन के स्टरलाइट कॉपर प्लांट के बंद होने से जा सकती हैं 50,000 नौकरियां

First published: 11 June 2018, 11:01 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी