Home » बिज़नेस » Vijay Malya's Passport Suspended on the Request Of ED
 

माल्या का पासपोर्ट निलंबित, जल्द होगा रद्द

सादिक़ नक़वी | Updated on: 16 April 2016, 13:35 IST
QUICK PILL
  • विदेश मंत्रालय ने विजय माल्या के पासपोर्ट को चार हफ्तों के लिए निलंबित कर दिया है. मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा, ईडी के निवेदन पर विदेश मंत्रालय ने पासपोर्ट एक्ट 10 (ए) के तहत तत्काल प्रभाव से विजय माल्या के पासपोर्ट को निलंबित कर दिया है. 
  • माल्या पर बैंकों के समूह का करीब 6,000 करोड़ रुपये का कर्ज है. माल्या ने बैंकों को 4,000 रुपये के भुगतान का प्रस्ताव दिया था जिसे बैंक खारिज कर चुके हैं.

विदेश मंत्रालय ने विजय माल्या के पासपोर्ट को चार हफ्तों के लिए निलंबित कर दिया है. मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा, ईडी के निवेदन पर विदेश मंत्रालय ने पासपोर्ट एक्ट 10 (ए) के तहत तत्काल प्रभाव से विजय माल्या के पासपोर्ट को निलंबित कर दिया है. 

अधिकारी ने कहा कि माल्या से चार हफ्तों के भीतर जवाब दाखिल करने के लिए कहा गया है कि क्यों न उनके पासपोर्ट को रद्द कर दिया जाए.

ईडी ने मंत्रालय से माल्य का पासपोर्ट रद्द करने के लिए कहा था. माल्या तीन बार ईडी के समन को नजरअंदाज कर चुके हैं. माल्या के खिलाफ ईडी 900 करोड़ रुपये के मनी लॉन्ड्रिंग मामले की जांच कर रही है. 

माल्या के खिलाफ ईडी 900 करोड़ रुपये के मनी लॉन्ड्रिंग मामले की जांच कर रही है

माल्या की कंपनी किंगफिशर एयरलाइंस को यह कर्ज आईडीबीआई बैंक ने दिया था. इस मामले की जांच सीबीआई भी कर रही है.

अधिकारी ने कहा, 'पासपोर्ट रद्द हो जाने के बाद माल्या का विदेश में रहना अवैध हो जाएगा.' वित्त मंत्रालय के अधिकारी ने बताया, 'हमारे पास इसके अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं था क्योंकि वहा जांच में सहयोग नहीं कर रहे थे.' राज्यसभा का सदस्य होने के नाते माल्या के पास डिप्लोमेटिक पासपोर्ट है.

पासपोर्ट रद्द हो जाने के बाद ईडी माल्या के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी करा सकेगा. इसके बाद वह इंटरपोल से माल्या के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने के लिए कह सकता है. 

इससे पहले माल्या के खिलाफ जारी लुकआउट नोटिस को हटाए जाने की वजह से सीबीआई की जबरदस्त आलोचना हो चुकी है. माल्या मार्च में देश छोड़कर जा चुके हैं. उसके बाद से वह लगातार ईडी को बताते रहे हैं कि उन्हें हाजिर होने के लिए कुछ और समय चाहिए क्योंकि फिलहाल वह बैंकों का कर्ज चुकाने की तैयारियों में जुटें हुए हैं.

इस बीच माल्या बैंकों का 6,000 करोड़ रुपये का कर्ज किस्तों में चुकाने के बारे में विचार कर रहे हैं. बैंकों का मूल कर्ज 4,900 करोड़ रुपये है जो अब ब्याज के साथ बढ़कर 6,000 करोड़ रुपये हो चुका है. इस महीने के आखिर में भुगतान को लेकर बैंकों और माल्या के बीच सहमति बन सकती है.

कम नहीं होंगी मुश्किलें

वित्त मंत्रालय के अधिकारी ने कहा, 'मुझे नहीं लगता कि पासपोर्ट रद्द होने  के बाद भी माल्या वापस लौटेंगे.' उन्होंने कहा, यह सब कुछ अदालत की कार्यवाही पर निर्भर करता है.

अधिकारी ने बताया कि पासपोर्ट रद्द होने के बाद यह मामला अदालत में जाएगा. इससे पहले ललित मोदी का भी पासपोर्ट रद्द किया जा चुका है. 

हालांकि उसके बाद भी मोदी ब्रिटेन में जमे हुए हैं. ब्रिटेन के अधिकारियों का कहना है कि पासपोर्ट रद्द होने का मतलब यह नहीं कि वह यहां ठहर नहीं सकते. ब्रिटिश अधिकारियों के मुताबिक वहां का कानून बिना पासपोर्ट के रहने की इजाजत देता है.

2014 में दिल्ली हाई कोर्ट ने विदेश मंत्रालय के फैसले को खारिज करते हुए ईडी को जमकर लताड़ लगाई थी. इसमें कहा गया था कि एजेंसी ने जांच में ढिलाई की. कोर्ट ने कहा कि मोदी के खिलाफ फेमा के तहत दर्ज केस में उनकी निजी पेशी की जरूरत नहीं थी.

और पढ़ें: माल्या का प्रस्ताव बैंकों को मंजूर नहीं

और पढ़ें: अमीरों पर दरियादिली नहीं दिखा सकते बैंक: सुप्रीम कोर्ट

First published: 16 April 2016, 13:35 IST
 
पिछली कहानी
अगली कहानी